जागरण संवाददाता, यमुनानगर :

सफाई व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए उप निगम आयुक्त अशोक कुमार मुख्य सफाई निरीक्षक हरजीत सिंह के साथ अचानक सफाई कर्मचारियों के हाजिरी निरीक्षण पर निकले। इस दौरान उन्होंने चार वार्डों में सफाई कर्मचारियों का हाजिरी निरीक्षण किया। निरीक्षण में कुल 100 सफाई कर्मचारियों में से 13 कर्मचारी अनुपस्थित मिलें और तीन कर्मचारी लीव पर थे। अनुपस्थित मिले कर्मचारियों से उप निगम आयुक्त अशोक कुमार ने स्पष्टीकरण मांगा है।

उप निगम आयुक्त अशोक कुमार मंगलवार सुबह करीब सात बजे मुख्य सफाई निरीक्षक हरजीत सिंह के साथ वार्ड नंबर दो के झंडा चौक पर पहुंचे। यहां मुख्य सफाई निरीक्षक हरजीत सिंह ने उनके सामने सभी कर्मचारियों की रजिस्टर में हाजिरी ली। यहां पर कुल 30 सफाई कर्मचारियों में से एक सफाई कर्मी अनुपस्थित मिला। जबकि एक बीमार होने के कारण लीव पर था। इसके बाद निगम अधिकारी वार्ड नंबर चार के मंशा सिंह गुरुद्वारा पर पहुंचे। यहां हाजिरी लेने पर कुल 25 कर्मचारियों में से 9 कर्मचारी अनुपस्थित मिले। जिनकी मौके पर ही गैर हाजिरी लगाई गई और बिना बताए अनुपस्थित रहने का स्पष्टीकरण मांगा गया। इसके बाद उप निगम आयुक्त अशोक कुमार, सफाई निरीक्षक अमित कांबोज, सफाई निरीक्षक प्रदीप दहिया, सहायक सफाई निरीक्षक सचिन के साथ वार्ड नंबर छह के दुर्गा गार्डन में पहुंचे और सफाई कर्मचारियों की हाजिरी जांची। हाजिरी निरीक्षण में यहां कुल 27 कर्मचारियों में से केवल एक सफाई कर्मी अनुपस्थित मिला। 26 कर्मचारी अपनी ड्यूटी पर तैनात मिले। उप निगमायुक्त अशोक कुमार यहां से सीधे वार्ड नंबर 11 के चिट्टा मंदिर रोड पर शांति कालोनी के पास पहुंचे। यहां पर 18 में से 14 कर्मी अपनी ड्यूटी पर तैनात मिले। जबकि दो कर्मचारी अनुपस्थित मिली। दो कर्मचारी लीव पर थे। उन्होंने अनुपस्थित मिले सफाई कर्मचारियों को बिना बताए ड्यूटी से अनुपस्थित रहने पर स्पष्टीकरण मांगा। उन्होंने सफाई कर्मचारियों को अपने एरिया की गहनता से सफाई कर शहर को साफ व स्वच्छ बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी कर्मचारी अपनी पूरी वर्दी में ड्यूटी पर आए और अपने एरिया की हर गली, नाली व अन्य स्थानों की गहनता से सफाई करें। सफाई के बाद एकत्रित हुए कचरे का भी समय पर उठान करवाना सुनिश्चित करें।

Edited By: Jagran