जासं, सोनीपत : जिला नागरिक अस्पताल परिसर में विश्व आघात दिवस के अवसर पर सेमिनार का आयोजन किया गया। इस दौरान ईएनटी, स्टाफ नर्स व अन्य कर्मचारियों को आघात के मरीजों की देखभाल व समय पर इलाज शुरू करने की ट्रेनिग भी दी। कार्यक्रम का शुभारंभ सिविल सर्जन डा. जसवंत पूनिया ने किया, जबकि अध्यक्षता गैर संचारी रोग के नोडल अधिकारी डा. तरुण यादव ने की।

डा. पूनिया ने कहा कि वर्तमान समय में आघात के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इससे न केवल व्यक्ति के दिमाग की नस ब्लाक हो जाती है, बल्कि उसकी मौत भी हो जाती है। हालांकि इन मामलों में 99 प्रतिशत मरीज ठीक हो जाते हैं, लेकिन इसके लिए इसकी जानकारी समय पर लगना बहुत जरूरी है। उनके अनुसार आघात बीपी व शुगर अधिक बढ़ने के कारण होता है। ऐसे मरीजों की देखभाल व इलाज शुरू कराने का कार्य एंबुलेंस में नियुक्त ईएनटी, उसके बाद स्टाफ नर्स व अन्य स्टाफ की होती है। इसी के मद्देनजर इनकी ट्रेनिग कराई गई। साथ ही ट्रेनिग के बाद उन्हें सर्टिफिकेट भी वितरण किए। इस मौके पर उप सिविल सर्जन डा. नीरज यादव, डा. शैलेंद्र राणा आदि मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021