जागरण संवाददाता, सोनीपत : भीषण शीतलहर से लोगों को मंगलवार को भी राहत नहीं मिली। एक ओर जहां तापमान कम रहने से ठिठुरन बनी रही तो तेज सर्द हवाओं ने लोगों को गर्म कपड़ों में लिपटे रहने को मजबूर कर दिया। मौसम विभाग ने जनवरी में शीतलहर के लगातार जारी रहने का पूर्वानुमान जारी किया है। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी से मैदानों में कंपकंपी का मौसम झेलना पड़ रहा है।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार दिसंबर में सर्दी नहीं पड़ने से विशेषज्ञ चितित थे। जनवरी शुरू होने के साथ ही लोगों को भीषण सर्दी का सामना करना पड़ा। जनवरी के पहले सप्ताह में ही पहाड़ों पर बर्फबारी और मैदानी क्षेत्रों में बारिश के साथ भीषण सर्दी पड़नी शुरू हो गई। पहाड़ों से आ रही बर्फीली हवाओं ने मौसम को सर्द बना दिया। न्यूनतम और अधिकतम दोनों तापमान लगातार नीचे बने रहे। इसके साथ ही दो सप्ताह से बादल और कोहरा छाए रहने से लोग धूप निकलने का इंतजार करते रहे।

मंगलवार को भी मौसम सर्द बना रहा। अधिकतम और न्यूनतम तापमान कम रहने के साथ ही तेज ठंडी हवाएं चलती रहीं। हवा चलने के साथ ही बारिश होने और कोहरा छाने से ठिठुरन ज्यादा हो गई। मंगलवार को भी सुबह से ही मौसम सर्द रहा। दिनभर धूप नहीं निकली और ठंडी हवाएं चलती रही। विशेषज्ञों के अनुसार दोपहर में धूप का निकलना जल्द शुरू हो जाएगा, लेकिन कम तापमान और ठंडी हवाओं का चलना अभी जारी रहेगा। इससे लोगों को शीतलहर और ठिठुरन का सामना लगातार करना होगा। ठंडी मौसम गेहूं की फसल के लिए लाभदायक है, लेकिन धूप नहीं निकलने से अन्य फसलों की बढ़वार प्रभावित हो सकती है। 60 साल बाद जनवरी में हुई भरपूर बारिश :

1961 .......... 65.4 मिमी

2022 .......... 69.2 मिमी

अभी कम तापमान करेगा परेशान :

दिन न्यूनतम अधिकतम

मंगलवार ..........05 - 16

बुधवार ..........04 -16

बृहस्पतिवार .........04 - 17

शुक्रवार ..........06 - 17

शनिवार ..........07 - 18

रविवार ..........08 - 20

(तापमान डिग्री सेल्सियस में) जरूरत के अनुसार पहनें कपड़े :

विशेषज्ञों के अनुसार अभी सर्दी का सामना करना पड़ेगा और तेज ठंडी हवा भी परेशान करेगी। ऐसे में पर्याप्त गर्म कपड़ों का पहनना जरूरी है। रक्तचाप और हृदय रोगियों को सर्दी से बचाव पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। सर्दी लगने से परेशानी होने पर तत्काल अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

अभी शीतलहर से राहत मिलने वाली नहीं है। सर्दी से खुद बचाव करें और बीमारों-बुजुर्गों का ध्यान रखें। पालतू पशुओं को तेज ठंडी हवाओं से बचाकर रखें। कपड़ों को पूरी तरह सुखाकर पहनें नहीं तो परेशानी हो सकती है। फिलहाल बारिश होने का पूर्वानुमान नहीं है।

- डा. प्रेमदीप सिंह, मौसम विज्ञानी - केवीके सोनीपत।

Edited By: Jagran