जागरण संवाददाता, सोनीपत : मुरथल रोड पर ठेकेदार के कर्मचारियों ने डिवाइडर की सफाई करने के बाद कचरे को डिवाइडर के साथ सड़क पर फेंक दिया है। इससे वाहनों के गुजरने से धूल-मिट्टी उड़ने से दोपहिया चालकों और दुकानदारों को परेशानी हो रही है। एक सप्ताह से ठेकेदार कर्मचारी डिवाइडर की सफाई कर रहे हैं। एक सप्ताह से यह कचरा सड़क पर पड़ा है, जबकि इसे उठाने की जिम्मेदारी भी ठेकेदार की है। अग्रसेन चौक से लेकर विकास नगर तक कचरा सड़क पर पड़ा है।

मुरथल रोड पर दो साल से आफत झेल रहे वाहन चालकों के लिए नई परेशानी पैदा हो गई है। सीवर और पेयजल लाइन दबाई जाने के कारण दो साल से एक सड़क खुदी पड़ी थी। एक माह पहले सड़क बनाने का कार्य शुरू तो हुआ लेकिन पूरा नहीं हुआ। सड़क पर एक लेयर बिछाकर छोड़ दी गई। इसमें सीवर के मैनहोल सड़क से ऊपर ही उभरे हुए रह गए। सड़क पर एक फाइनल लेयर बिछाई जानी थी लेकिन बजट के अभाव में यह काम अधूरा ही रह गया। सात जगह पहली लेयर भी नहीं बिछाई गई है। अब ठेकेदार के कर्मचारी एक सप्ताह से डिवाइडर की सफाई कर कचरे को सड़क पर डाल रहे हैं। वाहनों के गुजरने से रोड पर धूल उड़ती है। इससे बाइक और स्कूटी सवारों के साथ ही दुकानदारों को परेशानी उठानी पड़ती है।

लोगों ने जगह-जगह से तोड़ा डिवाइडर

लोगों ने अपने-अपने प्रतिष्ठानों और गलियों में जाने के लिए जगह-जगह से डिवाइडर को तोड़ लिया है। इसके साथ डिवाइडर पर लगी ग्रिल भी खतरनाक तरीके से सड़क की ओर मुड़ी हुई है। इससे हादसों का खतरा बढ़ गया है। डिवाइडर तोड़े जाने से बिजली केबल भी क्षतिग्रस्त हो गई है। इससे दो किलोमीटर क्षेत्र में स्ट्रीट लाइटें भी काफी दिन से नहीं जल रही हैं। नगर निगम के जेई का कहना है कि जब तक डिवाइडरों को ठीक नहीं किया जाता तब तक स्ट्रीट लाइटें ठीक नहीं हो सकेंगी क्योंकि वाहनों के गुजरने से बार-बार बिजली की केबल क्षतिग्रस्त हो जाती है।

मेरे संज्ञान में यह मामला नहीं था। सड़क पर कचरा डालना गलत है। ठेकेदार को कहकर इसे तुरंत उठवाया जाएगा ताकि दोपहिया वाहन चालकों और दुकानदारों को परेशानी न हो।

- सुभाष चंद्र, संयुक्त आयुक्त, नगर निगम, सोनीपत

Edited By: Jagran