जागरण संवाददाता, सोनीपत : रेलवे कर्मचारी संदीप की मौत बठिडा एक्सप्रेस से गिरकर नहीं हुई थी। ट्रेन में हुए झगड़े के बाद उनको डिब्बे से बाहर फेंक दिया गया था। मृतक के स्वजन ने आरोप लगाया कि घायल संदीप पांच घंटे तक ट्रैक पर पड़े तड़पते रहे और वहीं पर उनकी मौत हो गई। किंतु जीआरपी और रेलवे अधिकारियों ने इसको गंभीरता से नहीं लिया। स्वजन के हंगामे के बाद जीआरपी ने शिकायत के आधार पर जांच शुरू कर दी है।

शहर के गढ़ी घसीटा के रहने वाले रेलवे कर्मी संदीप की तैनाती दिल्ली में थी। उनका शव 30 जून को सोनीपत में रेलवे ट्रैक के बराबर में पड़ा मिला था। जीआरपी ने ट्रेन से गिरकर मौज होने की बात कहते हुए पोस्टमार्टम कराकर शव स्वजन को सौंप दिया था। अब दो जुलाई को उनके स्वजन ने जीआरपी थाने का घेराव कर हंगामा किया। उन्होंने आरोप लगाया है कि संदीप को ट्रेन में झगड़ा होने के बाद बाहर फेंका गया था। संदीप को ट्रेन से फेंकने की सूचना एक दैनिक यात्री ने ट्रेन के गार्ड को दी थी। उसके बावजूद इसको गंभीरता से नहीं लिया गया। घायल संदीप पांच घंटे तक रेलवे ट्रैक के किनारे ही पड़े रहे, जिससे उनकी मौत हो गई।

2:11 बजे हुई थी बात :

मृतक संदीप के भाई विशाल ने बताया कि 30 जून को दोपहर 2:11 बजे पर उनके पास संदीप का फोन आया था। उन्होंने बताया कि वह बठिडा एक्सप्रेस से आ रहे हैं। ट्रेन हरसाना स्टेशन से निकल चुकी है, वह लेने आ जाएं। बारिश तेज होने के कारण उन्होंने संदीप को रिक्शा लेकर आने की बात कही थी। जब संदीप घर नहीं पहुंचे तो उनके पास फोन किया, लेकिन फोन रिसीव नहीं हुआ। शाम सात बजे जीआरपी थाने से फोन आया कि संदीप का शव ट्रैक पर मिला है।

सीसीटीवी कैमरे खराब पड़े हैं :

संदीप के चाचा आनंद ने बताया कि उन्होंने बठिडा एक्सप्रेस के दैनिक यात्रियों से जानकारी ली। यात्रियों ने बताया कि संदीप से 4-5 युवकों का झगड़ा हुआ था। उन्होंने ही संदीप को बाहर फेंक दिया था। उन्होंने इसकी जानकारी ट्रेन के गार्ड को दी थी। इसकी रिकार्डिग सीसीटीवी कैमरे में भी मिलेगी। आनंद ने बताया कि उन्होंने सीसीटीवी फुटेज दिखाने को कहा तो जीआरपी ने बताया कि कैमरे एक सप्ताह से खराब हैं।

-----

रेलवे कर्मी संदीप का शव ट्रैक के किनारे पड़ा मिला था। पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन को सौंप दिया था। अब स्वजन ने शिकायत दी है कि संदीप का ट्रेन में कुछ युवकों से झगड़ा हुआ था। उन्होंने संदीप को धक्का देकर नीचे गिराया था, जिससे उसकी मौत हुई है। स्वजन शिकायत के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

- इंस्पेक्टर राजेंद्र सिंह, प्रभारी, थाना जीआरपी।

Edited By: Jagran