जागरण संवाददाता, सोनीपत : नगर निगम में शामिल 13 गांवों के ग्रामीण टैक्स न भरने पर अडिग हैं। विरोध कर रहे लोग अब सर्व टैक्स विरोध समिति बनाकर घर-घर जाकर नगर निगम के विरोध में समर्थन मांग रहे हैं, ताकि निगम की ओर से लगाए जाने वाले टैक्स माफ करवाएं जा सके। समिति सदस्य समर्थन के लिए घर-घर जाकर हस्ताक्षर अभियान चला रहे हैं। वहीं, जल्द ही उपायुक्त को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपेंगे।

सर्व टैक्स विरोध समिति के सदस्यों ने गांव कालूपुर से हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत की। इसके बाद समिति सदस्य लहराड़ा, जगदीशपुर, लिवान होकर गांव राई में पहुंचे। समिति सदस्यों ने कहा कि ग्रामीण नगर निगम की तरफ से भेजे जाने वाले हाउस टैक्स को किसी भी सूरत में जमा नहीं कराएंगे। नोटिस वापस होने तक आंदोलन को खत्म नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि निगम के अधिकारी लिखित में टैक्स नहीं लेने का भरोसा देंगे, तभी ग्रामीण शांति से बैठेंगे। अगर इसके लिए ग्रामीणों को आंदोलन करना पड़ा, तो वह पीछे नहीं हटेंगे। ग्रामीणों ने कहा कि जुलाई-2015 में 26 गांवों को शामिल करके नगर निगम सोनीपत का गठन किया गया था। इसके बाद गांवों का सभी पंचायती पैसा व जमीन नगर निगम के अधीन हो गई, लेकिन नगर निगम की तरफ से उनके गांव में कोई काम नहीं किए गए और उन पर हाउस टैक्स की शर्तें रख दी गईं। प्रशासन अपने वादों पर खरा नहीं उतर रहा है इसलिए समिति ने अब निगम के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान चलाया है। जरूरत पड़ने पर आंदोलन किया जाएगा। इस दौरान देवेंद्र ,कर्मबीर सरोहा, पालेराम, अत्तर सिंह, दयानंद मास्टर, रामसिंह, ओमप्रकाश हुड्डा, राजकुमार राणा, रोहताश राणा, गोवर्धन शर्मा, भीम सिंह, बालकिशन कौशिक व अन्य मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021