Move to Jagran APP

Sonipat: अभद्रता के विरोध में टोल पर किसान यूनियन का धरना, सांसदों-विधायकों के टोल माफ होने पर भी जताई नाराजगी

किसान यूनियन के पदाधिकारियों के साथ टोलकर्मियों द्वारा बदसलूकी किए जाने के विरोध में शनिवार को भिगान टोल प्लाजा पर किसान यूनियन के पदाधिकारी ने एक घंटे धरना दिया। किसानों का आरोप है कि यहां से आने-जाने वाले यूनियन के पदाधिकारियों के साथ टोल कर्मचारियों द्वारा बदसलूकी की जाती है।

By Nand kishor BhardwajEdited By: Abhi MalviyaPublished: Sat, 25 Mar 2023 10:09 PM (IST)Updated: Sat, 25 Mar 2023 10:09 PM (IST)
शनिवार को भिगान टोल प्लाजा पर किसान यूनियन के पदाधिकारी ने एक घंटे धरना दिया।

सोनीपत, जगारण संवाददाता। किसान यूनियन के पदाधिकारियों के साथ टोलकर्मियों द्वारा बदसलूकी किए जाने के विरोध में शनिवार को भिगान टोल प्लाजा पर किसान यूनियन के पदाधिकारी ने एक घंटे धरना दिया। किसानों का आरोप है कि यहां से आने-जाने वाले यूनियन के पदाधिकारियों के साथ टोल कर्मचारियों द्वारा बदसलूकी की जाती है। वहीं, विधायक और सांसद का टोल सिर्फ इसलिए माफ किया जाता है कि वह देशसेवा कर रहे हैं।

किसान नेताओं का कहना है कि किसान यूनियन के पदाधिकारी और सदस्य किसानों के हित में काम कर रहे हैं। इसके बावजूद भी टोल वसूला जा रहा है। अगर सांसद और विधायक का टोल माफ हो सकता है तो किसान यूनियन के पदाधिकारियों का भी टोल माफ होना चाहिए। किसान नेताओं के साथ बदसलूकी को सहन नहीं की जाएगा। उन्होंने चेताया कि यदि उनसे टोल वसूला जाता है तो वह टोल प्लाजा पर स्थायी धरना शुरू कर देंगे।

धरने की सूचना मिलने के बाद मुरथल थाना प्रभारी जसपाल सिंह अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने किसान नेताओं की बात सुनने के बाद टोल अधिकारियों के साथ बातचीत की। इसके बाद टोल अधिकारियों ने कहा कि भविष्य में इस तरह की शिकायतें नहीं आएगी। टोल अधिकारियों ने किसान नेताओं को यह भी आश्वासन दिया है कि उनसे टोल नहीं लिया जाएगा।

किसान नेताओं के पास आइकार्ड होना जरूरी

किसान नेता अभिमन्यु कोहाड़ ने बताया कि टोल पर धरना देने के बाद टोल अधिकारियों की तरफ से उन्हें आश्वासन मिला है कि टोल प्लाजा से गुजरने पर उनसे टोल नहीं वसूला जाएगा। इसके लिए किसान नेताओं के पास यूनियन का आइकार्ड, गाड़ी पर किसान यूनियन का झंडा और बैच भी होना अनिवार्य है। उन्होंने बताया कि यूनियन की तरफ से उन्हें चिप आधारित कार्ड भी दिए जाएंगे, ताकि आइकार्ड का गलत इस्तेमाल न हो सके। यदि कोई व्यक्ति फर्जी आई कार्ड लिए मिलता है तो ऐसे व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई भी जाएगी। उन्होंने यह भी चेताया कि यदि अधिकारियों के आश्वासन के अनुरूप काम नहीं हुआ तो यूनियन एकत्रित होकर टोल प्लाजा पर स्थाई धरना शुरू कर देंगे।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.