सोनीपत [संजय निधि]। पंजाब किसान यूनियन के अध्यक्ष रल्दू सिंह मानसा को संयुक्त किसान मोर्चा से 15 दिनों के लिए सस्पेंड कर दिया गया है। रविवार को पंजाब के 32 किसान जत्थेबंदियों और इसके बाद संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में यह निर्णय लिया गया। मोर्चा के नेताओं ने बताया कि 21 जुलाई को मानसा ने मोर्चा के मंच से भड़काऊ और किसान जत्थेबंदियों की नीति के खिलाफ भाषण दिया था। पंजाब के 32 किसान जत्थेबंदियों की बैठक हरेंद्र सिंह लखोवाल ने और संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक की अध्यक्षता जगजीत सिंह डल्लेवाल ने की।

रल्दू के बयान पर जताया रोष

संयुक्त मोर्चा की बैठक से पूर्व पंजाब के 32 किसान जत्थेबंदियों की बैठक में पंजाब किसान यूनियन के प्रधान रल्दू सिंह मानसा के बयान को लेकर रोष जताया गया और इस संबंध में संयुक्त मोर्चा को अवगत कराया गया। इसके बाद मोर्चा की बैठक में इस बात को रखा गया और निर्णय लिया गया कि मानसा को 15 दिन के लिए निलंबित कर दिया जाए।

इस कारण किया गया निलंबित

बैठक के बाद देर शाम कुंडली बार्डर पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए माेर्चा के नेता डल्लेवाल ने बताया कि रल्दू सिंह ने मंच से जो भाषण दिया था, उससे सिख भाईचारे और उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचा है। यह माेर्चा की नीति के विरुद्ध है। हरेंद्र लखोवाल ने बताया कि उन्हाेंने सिखों व शहीदों के खिलाफ बोला था। इसलिए उनपर यह कार्रवाई की गई है और वे 15 दिन तक कोई मंच साझा नहीं करेंगे और न ही कोई बयान दे सकेंगे।

जंतर-मंतर पर आज होगी महिला संसद

मोर्चा के नेता डल्लेवाल ने बताया कि सोमवार को जंतर-मंतर पर किसान संसद का संचालन पूरी तरह महिलाएं करेंगी। महिला संसद भारतीय कृषि व्यवस्था और चल रहे आंदोलन में महिलाओं द्वारा निभाई जाने वाली महत्वपूर्ण भूमिका को दर्शाएगी। इस संसद में आवश्यक वस्तु अधिनियम पर चर्चा होगी। इसमें शामिल होने के लिए विभिन्न जिलों से महिला किसानों का काफिला मोर्चे पर पहुंच रहा है। जंतर-मंतर पर जाने वाली 200 महिलाओं में 100 महिलाएं पंजाब से, जबकि 100 अन्य प्रदेशों से शामिल होंगी।

आंदोलन को आठ महीने पूरे

कृषि कानून विरोधी आंदोलन का सोमवार को आठ महीने पूरे हो जाएंगे। मोर्चा के नेताओं ने बताया कि इन आठ महीनों में देश के लगभग सभी राज्यों के लोग इसमें शामिल हुए। इसके अलावा मिशन उत्तर प्रदेश की शुरुआत के लिए भी सोमवार को संयुक्त किसान मोर्चा के नेता लखनऊ जाएंगे और वहां पत्रकारों से बातचीत करेंगे। इसके अलावा हरियाणा में 15 अगस्त को ट्रैक्टर मार्च निकालने की सूचना का खंडन करते हुए मोर्चा के नेताओं साफ किया कि संयुक्त मोर्चा और इसमें शामिल किसी भी संगठन ने फिलहाल इस तरह का कोई निर्णय नहीं लिया है।

Edited By: Prateek Kumar