संवाद सहयोगी, गन्नौर : शहर में वायरल बुखार के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रतिदिन बड़ी संख्या में मरीजों के आने से ओपीडी में भीड़ लग रही है। बुखार, सर्दी, जुकाम और खांसी से पीड़ित उपचार करवाने अस्पताल आ रहे हैं। अस्पताल परिसर में सुबह से देर शाम तक मरीजों की भीड़ नजर आ रही है।

ओपीडी में आने वाले मरीजों में अधिकतर मरीज वायरल से पीड़ित हैं। इसके अलावा कुछ मरीजों में टायफाइड व डेंगू बुखार के लक्षण भी मिल रहे हैं। अस्पताल के वार्डों में भी बड़ी संख्या में मरीजों भर्ती हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की एसएमओ डा. टीना आनंद ने बताया कि बुखार रोगियों पर नजर रखने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। मौसम बदलने के कारण बुखार जुकाम के रोगियों में इजाफा हुआ है। इस समय लोगों को अपनी दिनचर्या का ख्याल रखना चाहिए। पानी गुनगुना पीएं, साथ ही बासी भोजन करने से परहेज करें। मच्छरदानी का प्रयोग जरूर करें व ऐसे कपड़े पहनें जिससे पूरा बदन ढका जा सके। आसपास साफ सफाई रखें व पानी जमाव न होने दें।

कई घरों में मिला डेंगू का लार्वा

बुखार विशेष तौर पर डेंगू से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा घर-घर जाकर सर्वे किया जा रहा है। एमपीएचडब्लू जितेंद्र राणा के नेतृत्व में आशा वर्कर रेश्मा, हेमलता, रीना, अंजना ने शुक्रवार को शहर की गांधी नगर वाल्मिकी मोहल्ला व गढ़ी केसरी में घरों का सर्वे किया गया। इस दौरान लोगों को पानी की टंकियों, हौदियों, कूलरों जांच की गई, जिसमें से कई घरों में डेंगू के लार्वा मिला। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लार्वा नष्ट करवा कर मकान मालिकों को चेतावनी दी। इस दौरान घरों में मिले बुखार के मरीजों की रक्त पट्टिकाएं लेकर जांच के लिए लैब में भेजा।

Edited By: Jagran