जागरण संवाददाता, गोहाना : शनिवार को नंबरदारों की राज्य स्तरीय बैठक गोहाना में रोहतक रोड स्थित एक मैरिज पैलेस में हुई। नंबरदारों ने सरकार द्वारा रिक्त पदों पर नियुक्ति पर रोक लगाने पर रोष व्यक्त किया। नंबरदारों ने कहा कि जल्द मुख्यमंत्री से मुलाकात की जाएगी और नियुक्ति पर रोक नहीं हटाने पर आंदोलन की रूपरेखा तैयार होगी।

राज्य सरकार ने करीब एक सप्ताह पहले नंबरदारों और सरबराह नंबरदारों (कार्यकारी) की नियुक्ति पर रोक लगा दी थी। सरकार डिजिटल जमाने में नंबरदारों की उपयोगिता और स्थिति की पड़ताल करेगी। नियुक्तियों पर रोक लगने से नंबरदारों के पद खत्म करने पर भी चर्चा है। शनिवार को नंबरदारों ने गोहाना में बैठक की, जिसमें सभी जिलों से नंबरदार पहुंचे। बैठक की अध्यक्षता करतार सिंह ने की। लहणा सिंह, फूल सिंह, मास्टर सतबीर आदि ने कहा कि सरकार जल्द नंबरदारों की नियुक्ति पर रोक लगाने को लेकर अपनी मंशा को स्पष्ट करे। लहणा सिंह ने कहा कि नंबरदारों ने सरकार से कभी कोई मांग नहीं की। अपनी मर्जी से सरकार ने नंबरदारों को प्रति माह तीन हजार भत्ता देने, आयुष्मान योजना के तहत कार्ड बनवाने और मोबाइल देने की घोषणा की। सरकार की ये घोषणाएं अब तक पूरी नहीं की गई। सतबीर सिंह ने कहा कि नंबरदार को सरकार के नुमाइंदे हैं। बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रत्येक जिले से पांच-पांच नंबरदारों की कमेटी बनेगी। इसके बाद राज्य स्तर पर कमेटी गठित करके मुख्यमंत्री से बातचीत की जाएगी। नंबरदारों की नियुक्ति से रोक हटाने व घोषणाओं को पूरा करने की मांग की जाएगी। बैठक में नंबरदार कैलाश, राज, जिले सिंह, रमेश, दिनेश नागपाल, सुरजीत सिंह, जसबीर, करतार, उपदेश शर्मा, पुरुषोत्तम मौजूद रहे।

Edited By: Jagran