----फोटो: 1, 2 ---

-आरओबी का काम चलने के चलते जींद मार्ग के वाहन भी बरोदा मार्ग से गुजरते है

जागरण संवाददाता, गोहाना:

बरोदा रोड स्थित फाटक पर लगने वाले जाम से वाहन चालकों को भारी परेशानी हो रही है। जींद रोड के वाहनों का भी यहीं से आवागमन होने से परेशानी और अधिक बढ़ गई है। फाटक बंद होने के दौरान बेतरतीब ढग से खड़े होने वाले वाहन काफी समय बर्बाद करते हैं। यातायात व्यवस्था को सुचारु करने के लिए पुलिस एवं प्रशासन द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

रोहतक-गोहाना-पानीपत रेल लाइन शहर के अंदर से गुजरी हुई है। रेल लाइन पर शहर में तीन मुख्य मार्गाें पर फाटक बनी है। इनमें महम रोड, बरोदा रोड व जींद रोड शामिल है। जींद रोड स्थित फाटक पर रेलवे ओरवब्रिज (आरओबी) का काम चल रहा है। इसी के चलते जींद मार्ग से वाहनों का आवागमन नहीं हो रहा है। जींद आने-जाने वाले सभी वाहन मुख्यत: बरोदा रोड की फाटक से गुजरते है। ऐसे में इस मार्ग पर वाहनों की संख्या लगभग तीन गुणा बढ़ गई है। जींद रोड पर ही नई अनाज मंडी है। अनाज मंडी में पहुचने वाले किसानों, व्यापारियों व आम लोगों को भी अपने वाहनों के साथ बरोदा मार्ग से होकर आना-जाना पड़ता है। बरोदा मार्ग पर पूरा दिन वाहनों की लंबी लाइन लगी रहती है। जब फाटक बंद होती है तो दोनों तरफ लगभग एक किलोमीटर तक वाहनों की लाइन लग जाती है। चालक भी अपने वाहनों को लाइनों में खड़ा न करके बेतरतीब ढग से खड़ा कर लेते है। फाटक खुलने के बाद भी लगभग आधे से एक घटे तक जाम यथावत बना रहता है। एक दूसरे के सामने वाहन अड़ाने में कई बार तो चालकों में कहासुनी व हाथापाई तक हो जाती है। फाटक पर लगने वाला जाम वाहन चालकों के साथ-साथ शहर के लोगों के लिए सिरदर्द बन जाता है। पुलिस व प्रशासन द्वारा इस मार्ग पर यातायात व्यवस्था को सुचारु करने के लिए पुलिस कर्मियों की डयूटी नहीं लगाई जाती है।

क्या कहते है डीएसपी:

डीएसपी विनोद कुमार का कहना है कि उन्होंने कुछ दिन पहले ही गोहाना में कार्यभार संभाला है। शहर की स्थिति का अवलोकन किया जा रहा है। क्षेत्र में सुरक्षा के साथ-साथ यातायात व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस संबंध में शहरी थाना प्रभारी से चर्चा करके समस्या का समाधान निकाला जाएगा।