संवाद सहयोगी, डबवाली : इनेलो के प्रधान महासचिव अभय चौटाला ने कहा कि बरोदा उप चुनाव में कांग्रेस मजबूत नहीं थी बल्कि हलके के लोगों की मजबूरी थी। मतदाताओं ने भाजपा को हराने के लिए ही कांग्रेस के प्रत्याशी को जिताया है। भाजपा ने तीन काले कृषि कानूनों से किसानों के हित पर कुठाराघात किया है। ऐसे में कहा जा सकता है कि मतदाताओं ने जिस प्रकार कृषि कानूनों के खिलाफ अपना निर्णय दिया वहीं मुख्यमंत्री के उस दावे की भी हवा निकाल दी जिसमें वे प्रदेश में समान रूप से विकास का दावा करते थे। वे बुधवार को तेजाखेड़ा फार्म पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि दीपावली के बाद इनेलो की राज्य कार्यकारिणी की बैठक में हार के कारणों पर मंथन किया जाएगा और बड़े पैमाने पर संगठन में बदलाव किया जाएगा। उसके बाद पूरे हरियाणा में व्यापक अभियान चलाकर दौरे किए जाएंगे और लोगों से संपर्क साधा जाएगा। सदन में कांग्रेस पीठ दिखाकर भागी विधायक अभय चौटाला ने कहा कि कृषि कानूनों को लेकर कांग्रेस भी जनता की झूठी वाहवाही बटोरने का काम कर रही है जबकि वास्तविकता यही है कि इस बिल के ड्राफ्ट कांग्रेस शासनकाल में ही तैयार किए गए थे। केंद्र सरकार की ओर से लागू किए गए तीनों कृषि बिलों को लेकर कांग्रेस ने न तो सड़क पर ही कोई आंदोलन किया और न ही विधानसभा में सरकार को घेरा बल्कि पीठ दिखाकर सदन से भागने का काम किया। उन्होंने कहा कि इनेलो चौधरी देवी लाल द्वारा स्थापित की गई पार्टी है जो सदैव किसानों के हित के लिए लड़ती है और भविष्य में भी सड़क से सदन तक लड़ाई लड़ती रहेगी। ------------ लोगों ने गठबंधन को नकारा इनेलो नेता ने आरोप लगाया कि बरोदा उपचुनाव में भाजपा ने सरकारी मशीनरी का जमकर दुरुपयोग किया और अनेक भौतिक संसाधनों का लोभ लालच भी दिया है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि प्रदेश में गेहूं की बिजाई के बाद किसानों के आंदोलन में और तेजी आएगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा में बरोदा उपचुनाव के परिणामों से साबित हो गया है कि प्रदेश में भाजपा का ग्राफ गिरा है और लोगों ने प्रदेश की गठबंधन सरकार को नकारा है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021