जागरण संवाददाता, सिरसा : अध्यापकों ने सरकार की नीतियों के खिलाफ आंदोलन करते हुए काली पट्टी बांध कर अध्यापन कार्य किया। हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के जिला प्रधान सुनील यादव, सचिव बूटा ¨सह व कोषाध्यक्ष बलबीर ¨सह ने कहा कि बीते 10 सितंबर को शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों पर निर्ममता पूर्वक वाटर कैनन, आंसू गैस के गोले छोड़े व लाठीचार्ज किया। हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ सरकार की इस कायराना हरकत की ¨नदा करते है। उनकी मांग है कि इस प्रकार के आदेश देने वाले अधिकारी के खिलाफ सख्त से सख्त करवाई की जाए। महिलाओं को भी पुलिस ने नहीं बख्शा। लाठीचार्ज में तीन दर्जन से अधिक कर्मचारी घायल हो गए। जिलाध्यक्ष सुनील यादव ने बताया कि इस बर्बरतापूर्ण लाठीचार्ज के खिलाफ राज्य कार्यकारिणी के फैसले अनुसार 12 सितंबर को सभी जिला मुख्यालयों पर दमन विरोधी दिवस मनाने का निर्णय लिया है। जिसके तहत सभी जिलों में प्रदर्शन किए जाएंगे। आंदोलन की अगली कड़ी में 18 सितंबर को सभी जिलों में एस्मा के तहत रोडवेज व स्वास्थ विभाग के हड़ताली कर्मचारियों की सभी प्रकार की उत्पीड़न की कार्रवाईयों व हाई कोर्ट के निर्णय से प्रभावित कर्मचारियों की नौकरी बचाने और कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की मांग को लेकर जेल भरो आंदोलन किया जाएगा। 2 अक्टूबर को गांधी जयंती पर सुबह 9 से 5 बजे तक जिला स्तर पर सत्याग्रह किए जाएंगे।

Posted By: Jagran