जागरण संवाददाता, सिरसा : कोरोना वायरस को लेकर वापस गए श्रमिक फसली सीजन को लेकर फिर से पहुंचने लगे हैं। दूसरे प्रदेशों के श्रमिक निजी वाहनों से सिरसा में पहुंच रहे हैं। मौजूदा समय में धान व ग्वार की फसल कटाई का समय चल रहा है। पिछले कई दिनों से श्रमिकों की कमी से लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही थी। जिससे कई किसान धान की फसल कंबाइन से निकलवा रहे थे। गौरतलब है कि मार्च महीने में बढ़ते कोरोना मामलों के कारण देश में लॉकडाउन का ऐलान किया गया। उसके बाद से लाखों प्रवासी श्रमिक अपने गृह राज्य लौटने को मजबूर हुए।

--- यहां पर मिल रहा अच्छा मेहनताना

बिहार के मधेपुरा जिला से श्रमिक स्पेशल बस लेकर सिरसा पहुंचे। श्रमिक मनोज कुमार, सदानंद व मनीष ने बताया कि बिहार में मेहनाता 250 रुपये तक मिलता है। यहां पर प्रतिदिन धान की कटाई कर 600 रुपये तक कमा लेते हैं। इसी को लेकर प्रति व्यक्ति दो हजार रुपये किराया देकर निजी बस लेकर सिरसा पहुंचे हैं। जिले के विभिन्न गांवों में फसल सीजन में आते हैं। इसी के साथ फैक्ट्रियों में भी कार्य मिल जाता है। यहां से छह से सात महीने तक कार्य करने के बाद वापस लौट जाते हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस