संवाद सहयोगी, डबवाली : राजकीय माडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय डबवाली में खंड स्तरीय गीता महोत्सव-2021 के तहत प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। इसमें खंड के निजी एवं राजकीय विद्यालयों ने भाग लिया। शुभारंभ प्रधानाचार्य लक्ष्मण दास नाहर ने किया। मंच संचालन अंग्रेजी प्रवक्ता इंद्रजीत सिंह ने किया।

निबंध लेखन में खुशमीन कौर एनपीएस डबवाली, रिया नेहरू सीनियर सेकेंडरी स्कूल, रवि राजकीय माडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय डबवाली, श्लोकोच्चारण में विशु जीएमएसएसएस डबवाली, भावना जीएसएसएस कालुआना, पूजा जीएसएसएस रिसालियाखेड़ा, भाषण में गुरप्रीत कौर जीएसएसएस मसीतां, रचना एनपीएस डबवाली, तमन्ना नेहरु सीनियर सेकेंडरी स्कूल डबवाली, पेंटिग में सुखविद्र सिंह जीएमएसएसएस डबवाली, वासु सोनी नेहरु सीनियर सेकेंडरी स्कूल, निरजरा जीजीएसएसएस डबवाली, संवाद में नीतू एनपीएस डबवाल, प्रेरणा एनएसएसएस डबवाली, पूजा जीएसएसएस रिसालियाखेड़ा क्रमश: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रहे।

गीता जयंती उत्सव को लेकर हुई स्पर्धाएं

सिरसा (विज्ञप्ति) : श्री सनातन धर्म संस्कृत महाविद्यालय में 13 दिसंबर को होने वाले गीता जयंती उत्सव को लेकर कालेज प्रांगण में प्रश्नोत्तरी, श्लोकाच्चारण, गीता के श्लोक व अन्य प्रतियोगिताएं करवाई गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री सनातन धर्म संस्कृत महाविद्यालय के अध्यक्ष सुरेंद्र बांसल ने की। उन्होंने बच्चों को गीता के महत्व के बारे में बताया और कहा कि गीता के श्लोकों के उच्चारण से मन व आत्मा की शुद्धि होती है। इस अवसर पर श्री सनातन धर्म सभा के सचिव बजरंग पारीक, प्राचार्य प्रवीण कुमार, गणेश शंकर, पुष्पा, संजु, विशाल बसंल व नीरज उपस्थित थे।

गीता महोत्सव स्पर्धा में रूपावास स्कूल खंड स्तर पर रहा प्रथम

सिरसा (विज्ञप्ति) : गीता महोत्सव पर हुई खंड स्तरीय स्पर्धा में प्रथम रहने पर रूपावास स्कूल के विद्यार्थियों को स्कूल प्रबंधन द्वारा सम्मानित किया गया। स्कूल प्रवक्ता डा. कृष्ण ढाका ने बताया कि गीता श्लोक-उच्चारण स्पर्धा में सुमन, गीता संवाद में अमिता व गायत्री तथा भाषण स्पर्धा में मोनिका ने प्रथम स्थान हासिल किया। प्रधानाचार्य रघुबीर शर्मा ने विजेता विद्यार्थियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया तथा जिला स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता के लिए शुभकामनाएं दी। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ-साथ अन्य सह-पाठ्यक्रम गतिविधियों में बढ़-चढ़ कर भाग लेना चाहिए, क्योंकि ये गतिविधियां विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास में मददगार साबित होती हैं। उन्होंने संस्कृत प्रवक्ता सतबीर सिंह का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर प्रवक्ता प्रताप सिंह ढुकिया, कृष्ण सिवाच, डा. धर्मवीर भाटिया, सीताराम शर्मा, संतलाल वर्मा, सुभाष चन्द्र, पंकज शर्मा, प्रवीण कुमार, सुरजीत सिंह, योगेश कुमार, निहाल सिंह, भीम सिंह, मिडिल हेड सोमप्रकाश मौजूद रहे।

Edited By: Jagran