संवाद सूत्र, रानियां : भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान सरदारा ¨सह को राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड मिलने की घोषणा ने गांव संत नगर में जश्न का माहौल बना दिया। सरदारा ¨सह के परिवार को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। कोच से लेकर परिजन तक खुशी से फूले नहीं समा रहे हैं। खासकर हॉकी प्रेमी भी अपने रोल मॉडल को खेलों को सबसे बड़ा सम्मान मिलने पर खुशी जता रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि पूर्व कप्तान सरदारा ¨सह सिरसा जिले के रानियां खंड के गांव संत नगर के रहने वाले हैं। उनका पूरा परिवार गांव में ही रहता है। फिलहाल सरदारा ¨सह बंगलुरू में चल रहे शिविर में भाग ले रहे हैं। सरदारा ¨सह को खेल रत्न अवार्ड के तहत एक पदक, एक प्रशस्ति पत्र और साढ़े सात लाख रुपये मिलेंगे। इस अवार्ड से सम्मानित व्यक्तियों को रेलवे की मुफ्त पास सुविधा भी मिलती है। हॉकी में इससे पहले यह अवार्ड स्व.मेजर ध्यान चंद को मिला है।

कोच ने बताया तपस्या का फल

सरदारा ¨सह को हॉकी के गुर सिखाने वाले उनके शुरुआती कोच बलदेव ¨सह का कहना है कि सरदारा ¨सह ने हॉकी में यह मुकाम हासिल करने में कड़ी मेहनत की है।उसकी 24 सालों की कठिन तपस्या का ही फल है, जो अब उसे खेल जगत का सबसे बड़ा अवार्ड मिलने जा रहा है। एक खिलाड़ी के लिए इस अवार्ड का बड़ा महत्व है। उन्होंने कहा कि सरदारा ¨सह विश्व के सर्वश्रेष्ठ हॉकी खिलाड़ियों में से एक है। निश्चित तौर पर उनको यह सम्मान मिलने से हॉकी प्रेमियों का भी जोश बढ़ा है।

बेटे को अवार्ड मिलने पर झूमे माता-पिता

सरदारा ¨सह के पिता गुरनाम ¨सह व माता जसवीर कौर का कहना है कि जैसे ही उन्हें बेटे को अवार्ड मिलने की सूचना मिली तो वे खुशी से झूम उठे। दोनों का कहना है कि केंद्र सरकार ने उनके बेटे को यह सम्मान देकर हॉकी प्रेमियों का दिल जीत लिया है। वे सरकार के आभारी है। यह अवार्ड निश्चित तौर पर उनके बेटे का मनोबल और ज्यादा बढ़ाएगा।

इससे युवाओं का रुझान बढ़ेगा : ¨सगला

गांव संतनगर में सरदारा ¨सह के परिवार को बधाई देने पहुंचे रानियां मार्केट कमेटी के वाइस चेयरमैन संजय ¨सगला ने कहा कि सरदारा ¨सह को यह अवार्ड मिलने से ग्रामीण युवाओं में हॉकी के प्रति रुझान बढ़ेगा।

ये हैं सरदारा ¨सह

विश्व एकादश खेल चुके सरदारा ¨सह विश्व के सर्वश्रेष्ठ मिडफिल्डर हैं। लंबे समय तक उन्होंने भारतीय हॉकी टीम का नेतृत्व किया। इससे पहले भारत सरकार की ओर से सरदारा ¨सह को पदमश्री व अर्जुन अवार्ड दिया जा चुका है। हरियाणा सरकार ने भी उन्हें प्रदेश के सर्वोच्च खेल अवार्ड भीम पदक से सम्मानित किया था। फिलहाल सरदारा ¨सह हरियाणा पुलिस में डीएसपी भी है।

Posted By: Jagran