संवाद सहयोगी, रानियां: मुकदमा दर्ज होने के बावजूद नशा तस्करों की गिरफ्तारी न होने और शिकायतकर्ताओं को धमकाने से गुस्साए लोगों ने थाना पहुंच कर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों में महिलाएं भी शामिल रही। लगभग दो घंटे तक चले प्रदर्शन के के दौरान थाना प्रभारी इंस्पेक्टर विक्रम सिंह ने आरोपितों को शीघ्र गिरफ्तार करने और नशा तस्करी पर अंकुश लगाने का आश्वासन दिया और बाद में एक आरोपित महिला की गिरफ्तारी के बाद ही प्रदर्शनकारी वापिस गए।

21 मई को वार्ड नंबर सात निवासी 22 वर्षीय युवक वीर सिंह की नशे की ओवरडोज लेने के कारण मौत हो गई थी। इस मामले में वार्डवासियों ने नशा तस्करी करने वाले लोगों की एक सूची पुलिस को सौंपी और मृतक के पिता की शिकायत पर एक महिला सहित 13 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था, मगर अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई थी। वार्ड नं 7 व 8 के लोग थाना में सुबह की एकजुट हो गए। प्रदर्शनकारियों ने आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग रखी। थाना प्रभारी ने कहा कि नशा तस्करी पर पुरी तरह अंकुश लगाने के लिए सरकार व प्रशासन पुरी तरह गंभीर है। तफ्दीश चल रही है और इसके लिए थोड़ा समय चाहिए। प्रदर्शनकारियों के विरोध को देखते हुए महिला को हिरासत में ले लिया। इस मौके पर पूर्व पार्षद सोना राम, बलकार सिंह रामगढिया, हरजिन्द्र सिंह नानूआना, बलबीर सिंह , मुख्तयार सिंह, बलवीर सिंह, गुरमीत सिंह, जरनैल सिंह, भोला सिंह, बलजीत सिंह, बलदेव सिंह, मक्खन सिंह, बचन सिंह, बलदेव कुमार, बाबू राम, अकरम चंद, राम सिंह, बलदेव सिंह, सीता राम, पवन कुमार, दवेन्द्र कुमार, रोशन लाल व काला सिंह भी उपस्थित थे।

Edited By: Jagran