जागरण संवाददाता, सिरसा : लाकडाउन से पहले जो बाजार शाम ढलते ही सुनसान हो जाते थे वहां अब देर रात तक रौनकें दिखाई देने लगी है। धार्मिक स्थलों पर भी रौनक लौट आई है। मंगलवार रात करीब दस बजे गीता भवन वाली गली में फास्ट फूड व गोल गप्पे इत्यादि की रेहड़ियां लगी दिखाई दी और लोग परिवार सहित चहलकदमी करते दिखे। रात दस बजे के बाद भी डबवाली रोड स्थित सालासर धाम मंदिर व बरनाला रोड पर बिजलीघर के समीप हनुमान मंदिर में भी लोगों की आवाजाही दिखी। शहर के मुख्य चौक चौराहों पर कुल्फी इत्यादि की रेहड़ियों पर भी लोग नजर आए। हालांकि रोड़ी बाजार, मोहंता मार्केट, सदर बाजार में नौ बजे के बाद ही सन्नाटा पसर जाता है।

---------

देर रात को नहीं रोडवेज की बस सर्विस

कोरोना के चलते सिरसा से लेट नाइट बस सर्विस अभी शुरू नहीं हुई है। रात आठ बजे के बाद बस सेवा नहीं है। बस सर्विस न होने के कारण यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ती है। यात्री निजी वाहनों व रात 11 बजे के बाद राजस्थान की तरफ से आने वाली निजी ट्रांसपोर्ट की बसों में सवार होकर गंतव्य तक जाते हैं। रात के समय मुख्य बस अड्डा परिसर पर सन्नाटा पसरा दिखाई दिया। बस अड्डा पर पुलिस चौकी में तैनात जवान भी रात के समय मुश्तैद दिखे और रात के समय घूमने वालों से पूछताछ करने दिखाई दिये। रात करीब 11 बजे एक बस दिल्ली से सिरसा पहुंची, जिसमें से सीमित संख्या में ही सवारियां उतरी। बस अड्डे के बाहर पांच छह आटो चालक खड़े थे जो सवारियां आते ही उन्हें आवाज देकर उन्हें बैठाया और उनके घर तक छोड़ने के लिए रवाना हो गए।

Edited By: Jagran