जागरण संवाददाता, सिरसा : चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय द्वारा ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए योजना पर कार्य शुरू कर दिया है। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राजबीर सिंह सोलंकी ने ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से विश्वविद्यालय के अंदर सेंटर ऑफ टेक्नोलॉजी इंप्लीमेंटेशन एंड ट्रेनिग इंस्टिट्यूट के निदेशक की जिम्मेवारी प्रो. विक्रम सिंह को सौंपी है। निदेशक ने कार्यभार संभालते ही विश्वविद्यालय को डिजिटल करने के लिए अहम फैसले लिए हैं। जिससे विश्वविद्यालय कोरोना वायरस कार्यकाल में भी विद्यार्थियों को बेहतर तरीके से शिक्षा देने के लिए कार्य किया जाएगा। गौरतलब है कि विश्वविद्यालय की 12 जून को शैक्षणिक परिषद की 26वीं बैठक हुई। जिसमें विश्वविद्यालय के कुलपति व परिषद के अध्यक्ष प्रो. राजबीर सिंह सोलंकी की अध्यक्षता में सेंटर ऑफ टेक्नोलॉजी इंप्लीमेंटेशन एंड ट्रेनिग इंस्टिट्यूट की स्थापना करने का फैसला लिया गया। -----विवि के सभी शिक्षकों को दी जाएगा प्रशिक्षण

सेंटर ऑफ टेक्नोलॉजी इंप्लीमेंटेशन एंड ट्रेनिग इंस्टिट्यूट के निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि ऑनलाइन कक्षा से विद्यार्थियों की पढ़ाई करवाई जाएगी। इसके लिए कक्षा में गुगल मीट से पढ़ाई करवाई जाएगी। इसके लिए विद्यार्थियों की 75 फीसद हाजिरी जरूरी है। विवि में एडमिशन लेने वाले विद्यार्थी की इससे कम हाजिरी होने पर परीक्षा में नहीं बैठ पाएगा। गुगल मीट पर विद्यार्थियों के पढ़ाई करने में किसी प्रकार दिक्कतें न हो। इसके लिए बीएसएनएल से स्पेशल 100 एमबीडीएस लाइन ली जाएगी। -------------- 36 लाख रुपये होंगे खर्च

विवि के सभी टीचिग व दूसरे कार्यालय में वाइफाई की सुविधा दी जाएगी। विवि में वाईफाइ की सुविधा टैगोर भवन, सीवीरमन भवन, फैकल्टी हाउस, एड्म ब्लॉक में वाइफाई की सुविधा अपडेट की जाएगी। वाइफाई की सुविधा देने के लिए करीब 36 लाख रुपये की राशि खर्च की जाएगी। इसी के साथ विश्वविद्यालय की सभी फाइलों का निपटान व अन्य कार्य भी ऑनलाइन किए जाएंगे।

-- महत्वपूर्ण जिम्मेवारी पर खरे उतरे हैं विक्रम सिंह

कंप्यूटर साइंस के चेयरमैन प्रो. विक्रम सिंह को समय समय पर विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा महत्वपूर्ण जिम्मेवारी सौंपी गई है। प्रो. विक्रम महत्वपूर्ण जिम्मेवारी पर खरे उतरे हैं। विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा उन्हें डीन ऑफ कालेजिज, कई विभाग के चेयरमैन, चीफ वार्डन की जिम्मेवारी सौंपी गई है। उन्होंने कार्यभार संभालने के बाद कहा कि विश्वविद्यालय को डिजिटल करने में अहम भूमिका निभाने का कार्य किया जाएगा। विश्वविद्यालय के सभी शिक्षकों को ऑनलाइन कक्षा व महत्वपूर्ण जानकारी देने के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा। विवि से जुड़े हैं 52 हजार विद्यार्थी

चौधरी देवालाल विश्वविद्यालय के अधीन सिरसा व फतेहाबाद के 62 कालेज हैं। विश्वविद्यालय कैंपस व कालेजों में करीब 52 हजार विद्यार्थी पढ़ाई करते हैं। विश्वविद्यालय द्वारा डिजिटलाइजेशन की तरफ ध्यान देने से कोरोना वायरस कार्यकाल में काफी फायदा मिलेगा। विश्वविद्यालय के शिक्षक विद्यार्थियों को टाइम टेबल अनुसार प्रतिदिन ऑनलाइन कक्षा लगाने का कार्य करेंगे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप