जागरण संवाददाता, सिरसा : सिरसा में इस बार पिछले वर्षों की तुलना में डेंगू व मलेरिया के केस बहुत कम आ रहे हैं। डेंगू के चार केस मिले हैं और चारों ही पंजाब एरिया से संबंधित है। इसके अलावा सिरसा में मलेरिया के आठ केस मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा सतर्कता बरती जा रही है। नगर परिषद को संबंधित क्षेत्रों में फॉगिग करवाने को कहा गया है लेकिन अभी नगर परिषद की फॉगिग मशीन खराब पड़ी है। --------- जिले में डेरा सच्चा सौदा के अस्पताल में डेंगू के तीन तथा शहर के एक निजी अस्पताल में एक केस मिला था। चारों ही केस पंजाब क्षेत्र से संबंधित है। सिरसा जिले में अभी डेंगू का कोई केस नहीं आया है। जिले में मलेरिया के आठ केस मिले है। जिसके बाद संबंधित क्षेत्रों में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। लोगों को अपने घरों के आसपास व छतों पर पानी इकट्ठा न होने देने की सलाह दी जा रही है। सप्ताह में एक बार कूलर, मटकों, फ्रिज के पीछे बॉक्स इत्यादि में एकत्रित पानी को निकाल कर उन्हें अच्छी तरह साफ करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। -------------------- सिविल सर्जन डा. सुरेंद्र नैन का कहना है कि मच्छरों को पनपने से रोकने में आमजन भी सहयोग कर सकता है। जहां कहीं भी गड्ढे में पानी दिखाई दे अगर उसमें कुछ बूंदे काले तेल की डाल दी जाए तो वहां मच्छर पनपेगा ही नहीं। मोटरसाइकिल की सर्विस के बाद निकलने वाला काला तेल मच्छरों को रोकने में काफी कारगर साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि अगर किसी को बुखार इत्यादि की शिकायत होती है तो निकटवर्ती स्वास्थ्य केंद्र में जांच करवाएं। अभी सिरसा में डेंगू से जुड़े केस नहीं है, फिर भी सतर्कता बेहद जरूरी है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप