जेएनएन, रोहतक। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (मदवि) के विंध्या हॉस्टल में लॉ के छात्र की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मुंह से झाग निकलने पर छात्र को पीजीआइ में भर्ती कराया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया। छात्र ने तीन माह पहले ही गुरुग्राम की रहने वाली बीए के छात्रा से प्रेम विवाह किया था। छात्र ने आत्महत्या की है या फिर नशे की ओवरडोज से उसकी मौत हुई है, पुलिस इसकी पड़ताल कर रही है।

पुलिस के अनुसार मूलरूप से खरखड़ा गांव निवासी दक्षवीर का परिवार काफी समय से गुरुग्राम में रहता है। दक्षवीर मदवि के लॉ डिपार्टमेंट में अंतिम वर्ष का छात्र था और रोजाना गुरुग्राम से पढ़ने आता था। सोमवार दोपहर दक्षवीर अपने एक दोस्त विकास के साथ क्लास में पहुंचा।

दोनों विंध्या हॉस्टल में रहनेे वाले सहपाठी विनय से उसके कमरे की चाबी लेकर वहां चले गए। कमरे में कुछ देर रुकने के बाद विकास कुछ सामान लेने चला गया। दक्षवीर कमरे में अकेला था। थोड़ी देर बाद विकास कमरे में पहुंचा तो दक्षवीर के मुंह से झाग निकल रहा था और वह बेहोशी की हालत में पड़ा था। यह देख दक्षवीर को अन्य साथी पीजीआइ लेकर पहुंचे, जहां उसकी मौत हो गई।

सूचना मिलने पर देर शाम छात्र के परिजन गुुरुग्राम से आ गए। पुलिस ने भी मौके पर पहुंचकर दक्षवीर के साथियों से बातचीत की। पुलिस की मानें तो दक्षवीर नशा करता था।

बेटा नहीं था तनाव में : पिता

दक्षवीर के पिता बिजेंद्र सिंह गुरुग्राम के एक कॉलेज में प्रोफेसर हैं, जबकि मां भी एक स्कूल में पढ़ाती हैं। दक्षवीर उनका इकलौता बेटा था। उसके पिता का कहना है कि मेरा बेटा किसी तनाव में नहीं था। वह अच्छे से पढ़ाई करता था।

दोनों के परिजनों ने लव मैरिज का किया था विरोध

दक्षवीर ने तीन माह पहले ही गुरुग्राम की रहने वाली बीए के छात्रा ने लव मैरिज की थी। दोनों के परिजनों ने शुरू में इसका विरोध किया, लेकिन कुछ दिन बाद दक्षवीर पत्नी के साथ घर आ गया था। तभी से पूरा परिवार खुशी-खुशी रह रहा था।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt