जागरण संवाददाता, रोहतक :

अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय बॉ¨क्सग चैंपियनशिप के लिए वर्ष 2014 में बॉक्सर अमित पंघाल के एमडीयू की टीम में चयन को लेकर जमकर विरोध हुआ था। इतना ही नहीं एमडीयू के खेल पुरस्कार वितरण समारोह में प्रतिद्वंद्वी बॉक्सर ने तत्कालीन शिक्षा मंत्री गीता भुक्कल के सामने हंगामा भी काटा। छात्र संगठनों ने भी विवि प्रशासन पर भेदभाव के आरोप लगाए। अमित ने अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय में गोल्ड मेडल जीतकर अपने चयन को सही साबित किया। इसके बाद श्रीलंका में अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में पदक जीता और अब एशियन गेम्स में ओलंपिक के गोल्ड मेडलिस्ट को हराकर दिखा दिया कि उसका चयन कभी भी गलत नहीं था। बुधवार को क्रॉस कंट्री चैंपियनशिप में अमित पंघाल को बतौर मुख्यातिथि आमंत्रित किया और विवि अधिकारी, प्रशिक्षक, कर्मचारी व खिलाड़ियों ने उनको सिर-आंखों पर बैठाकर पूरा प्यार दिया। अमित पंघाल भी विवि में पहुंचकर गदगद थे।

कुलपति ने किया अमित पंघाल का शानदार स्वागत

एशियाई खेल 2018 में मुक्केबाजी में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीने वाले मुक्केबाज अमित पंघाल का बुधवार को महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (एमडीयू) खेल परिसर में शानदार स्वागत और अभिनंदन किया गया। एमडीयू कुलपति प्रो. बिजेंद्र कुमार पूनिया, खेल निदेशक डा. देवेंद्र ¨सह ढुल, उप निदेशक खेल डा. शकुंतला, एथलेटिक्स प्रशिक्षक डा. रमेश सिन्धु ने अमित पंघाल को पुष्प-गुच्छ, स्मृति चिह्न और स्पो‌र्ट्स किट भेंट कर सम्मानित किया। निदेशक खेल डा. ढुल ने जानकारी दी कि अमित पंघाल ने एमडीयू की ओर से इंटर यूनिवर्सिटी मुक्केबाजी प्रतियोगिता में भाग लेकर स्वर्ण पदक जीते हैं। एमडीयू खेल परिसर से अमित पंघाल का खेल क्षेत्र का सफर प्रारंभ हुआ था। एमडीयू कुलपति प्रो. बिजेंद्र कुमार पूनिया ने कहा कि अमित पंघाल की स्वर्णिम उपलब्धि पर महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय, हरियाणा प्रदेश और भारत वर्ष को नाज है। उन्होंने उम्मीद जताई कि अमित पंघाल अपने गोल्डन पंच के जरिए आगामी ओलंपिक खेल में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीतेंगे। उन्होंने उपस्थित खिलाड़ियों से कहा कि अमित पंघाल के जीवन और कड़ी मेहनत से प्रेरणा लेकर वे भी अपने खेल इवेंट में ऊंचाईयों को प्राप्त करें।

कुलपति ने खिलाड़ियों को नशे से दूर रहने का किया आह्वान

एमडीयू के कुलपति प्रो. बीके पूनिया ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि जीवन में और खेल क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने के लिए एकाग्रचित्त होकर अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर होना होगा। उन्होंने उपस्थित विद्यार्थियों से अपील की कि मादक पदार्थों का सेवन न करें। उन्होंने नशाखोरी के खिलाफ सामाजिक मुहिम चलाने का आह्वान किया। स्पो‌र्ट्स तथा सोसायटी ड्रग-फ्री हो, इसके लिए सबको मिलकर प्रयास करना होगा। कार्यक्रम में स्वागत भाषण खेल निदेशक डा. डीएस ढुल ने दिया।

यह रहे मौजूद

इस अवसर पर उप खेल निदेशक डा. शकुंतला बेनीवाल, जनसंपर्क विभाग के निदेशक सुनित मुखर्जी, प्रो. आरपी गर्ग, डा. रमेश ¨सधु, बलजीत ¨सह, नरेश हुड्डा, मनीष धनखड़, डा. सुभाष शर्मा, महेंद्र पुनियानी, मुकेश कुमार, मुन्नी जून, मनीष कुमार, मनोज कुमार व अन्य महाविद्यालय के कोच व खिलाड़ी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran