जागरण संवाददाता, रोहतक : नो पार्किंग से गाड़ी उठाने को लेकर मंगलवार को दूसरे दिन भी हंगामा हो गया। बार एसोसिएशन के प्रधान लोकेंद्र फौगाट व क्रेन चालक और उसके साथियों के बीच जमकर हंगामा हुआ। जिसके बाद बार प्रधान ने नगर निगम के ठेकेदार की क्रेन को अपने कब्जे में ले लिया और उसे थाने में ले जाकर खड़ा कर दिया।

मंगलवार दोपहर के समय प्रधान लोकेंद्र फौगाट और महासचिव दीपक हुड्डा अपनी कार में सवार होकर पीजीआइएमएस में डाक्टर के पास जा रहे थे। पुलिस को दी गई शिकायत में महासचिव दीपक हुड्डा ने बताया कि जिस समय वह क्रेन के पास से निकल रहे थे क्रेन में सवार कई लोगों ने उन पर कमेंट किया कि अंजाम भुगतना होगा। इस पर प्रधान और महासचिव ने क्रेन को रूकवा उनसे बातचीत करने लगे। आरोप है कि तभी क्रेन चालक ने अपने अन्य साथियों ने लोहे की राड लेकर बुला लिया। जिन्होंने महासचिव दीपक हुड्डा का गला पकड़कर कार से बाहर निकल लिया और प्रधान पर भी हमले की कोशिश की। पीजीआइएमएस थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराया। बार प्रधान ने क्रेन के चालक को नीचे उतार लिया और क्रेन को पीजीआइएमएस थाने ले जाकर खड़ा कर दिया। इस मामले में दोनों पक्षों की तरफ से पीजीआइएमएस थाने में एक-दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है। गौरतलब है कि सोमवार को भी अधिवक्ताओं और ठेकेदार के कारिदों के बीच विवाद हुआ था।

ठेकेदार ने यह लगाया आरोप

इस मामले को लेकर ठेकेदार प्रवीण ने भी बार प्रधान और महासचिव पर आरोप लगाया है। आरोप है कि बार प्रधान और महासचिव ने जानबूझकर उनकी क्रेन के सामने गाड़ी रोकी और चालक को क्रेन से नीचे उतारकर गाली-गलौच की। धमकी दी कि क्रेन को यहां पर नहीं चलने दिया जाएगा।

Edited By: Jagran