रोहतक, जेएनएन।  महम से निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू के खिलाफ केस दर्ज किए जाने का मामला गर्माता जा रहा है। बलराज कुंडू द्वारा इस मामले में दिए गए अल्टीमेटम का समय पूरा हो गया है, एसआइटी की जांच अभी अधूरी है। इस मामले में केस दर्ज कराने वाले धनखड़ बंधु एसआइटी के सामने पेश हुए। उनके मजिस्ट्रेट के सामने हस्ताक्षर कराए गए, जिन्हें लैब में जांच के लिए भेजा जाएगा। उधर, विधायक कुंडू से मांगा गया शपथ पत्र अभी तक एसआइटी को नहीं मिला है।

महम की दुर्गा कालोनी के रहने वाले कंस्ट्रक्शन ठेकेदार ने कराया था विधायक पर केस दर्ज

बता दें कि महम की दुर्गा कालोनी निवासी कंस्ट्रक्शन ठेकेदार नरेंद्र धनखड़ की शिकायत पर सिविल लाइन थाने में विधायक बलराज कुंडू और उनके भाई शिवराज कुंडू के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। धनखड़ का आरोप है कि विधायक कुंडू उनके रुपये नहीं दे रहे हैं और एक शपथ पत्र पर फर्जी हस्ताक्षर कर समझौते की बात कह रहे हैं। केस दर्ज होने के बाद रविवार को विधायक अपने समर्थकों के साथ गिरफ्तारी देने के लिए पहुंचे थे।

इसके बाद बलराज कुंडू के समर्थकों ने करीब पांच घंटे तक विरोध प्रदर्शन किया था। कुडूं ने पूरे मामले की पुलिस को जांच पूरी करने के लिए तीन दिन का अल्टीमेटम दिया था। अल्‍टीमेटम की यह अवधि बुधवार को पूरा हो गई। इस मामले में एसआइटी इंचार्ज डीएसपी गोरखपाल राणा ने मंगलवार को दोनों पक्षों को बुलाकर दस्तावेज लिए थे, जिसके बाद बुधवार को भी दोनों पक्षों को बुलाया गया था।

दोनों भाई नरेंद्र धनखड़ और रमेश धनखड़ एसआइटी के सामने पेश हुए। दोनों के हस्ताक्षर कराए गए हैं, क्योंकि हस्ताक्षर को लेकर ही विवाद खड़ा हुआ है। वहीं विधायक कुंडू की तरफ से कोई नहीं पहुंचा। हालांकि उनके प्रतिनिधियों ने डीएसपी से फोन पर बताया कि जिस शपथ पत्र पर हस्ताक्षर को लेकर विवाद है उसे बृहस्पतिवार को एसआइटी के सामने पेश कर दिया जाएगा।

विधायक कुंडू के वकील ने की धनखड़ बंधुओं से शपथ पत्र की मांग

इस पूरे मामले को लेकर विधायक बलराज कुंडू के वकील पीयूष गक्खड़ ने पुलिस से मांग की कि धनखड़ बंधुओं से शपथ पत्र लिए जाएं। उन्होंने तीन शिकायत दी है। इन शिकायतों में अलग-अलग बात सामने आ रही है। पहली दो शिकायतों में 10 करोड़ की मांग की जा रही है और 13 जनवरी को रमेश धनखड़ की तरफ से जो शिकायत दी गई है उसमें 15 करोड़ का दावा किया गया है। दाेनों साथ ही यह भी लिख रहे हैं कि सभी दस्तावेज फर्जी तैयार किए गए हैं।

पीयूष गक्खड़ ने कहा कि ऐसे में उनसे यह शपथ पत्र लिया जाए कि कौन से दस्तावेज फर्जी है और कौन से सही है। धनखड़ बंधुओं के उन हस्ताक्षर को मिलाया जाए जो उन्होंने कहीं पर एडमिट किए हैं। यानी कि किसी बैंक खाते या फिर अन्य दस्तावेजों में है। उधर, विधायक कुंडू की तरफ से धनखड़ बंधुओं के खिलाफ डाले गए सिविल मामले की बुधवार को सिविल जज विवेक की कोर्ट में सुनवाई हुई, जिसमें आगामी तारीख दे दी गई।

------

'' मैंने तीन दिन का समय दिया था। मैं अब चंडीगढ़ से लौट आऊंगा। इस संबंध में बृहस्पतिवार को पुलिस अधिकारियों से बातचीत की जाएगी। तभी आगे का निर्णय लिया जाएगा।

                                                                                            - बलराज कु़ंडू, निर्दलीय विधायक महम।

----------

  '' धनखड़ बंधुओं के मजिस्ट्रेट के सामने हस्ताक्षर कराए गए हैं, जिन्हें जांच के लिए भेजा जाएगा। विधायक की तरफ से बृहस्पतिवार को शपथ पत्र भेजने की बात कही गई है।

                                                                                        - डीएसपी गोरखपाल राणा, एसआइटी इंचार्ज।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस