मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, रोहतक : ओएलएक्स पर सामान बेचने के नाम पर ठगी करने वाले बड़े गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। अलग-अलग पकड़े गए गिरोह के चार सदस्यों से पूछताछ के बाद पुलिस ने करीब 40 वारदातों का खुलासा किया है। खास बात यह है कि आरोपितों ने हरियाणा, दिल्ली, देहरादून, लखनऊ, मुंबई, हैदराबाद, पूना, यूपी, महाराष्ट्र, गुजरात और आंध्र प्रदेश आदि राज्यों में भी लोगों को अपना शिकार बनाया है। आरोपितों को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। एटीएम एंड ऑनलाइन फ्रॉड इनवेस्टिगेशन सेल के प्रभारी सहायक उप निरीक्षक अजय कुमार ने बताया कि ओएलएक्स पर ठगी करने वाले गिरोह का पहला सदस्य 15 मई को फरीदाबाद निवासी मुबारिक को गिरफ्तार किया था। आरोपित से पूछताछ के बाद 27 मई को उसके साथी राजस्थान के भरतपुर जिले के पाड़ला गांव निवासी मुनफैद, आरिफ और पलवल के पहाड़पुर निवासी मुनफैज को गिरफ्तार किया था। आरोपित मुबारिक न्यायिक हिरासत में जेल में बंद है, जबकि बाकी तीनों आरोपितों को रिमांड पर लेकर पूछताछ चल रही थी। जिनसे पूछताछ के बाद काफी वारदातों का खुलासा हुआ है। आरोपितों को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। इन वारदातों का हुआ खुलासा

-फरवरी 2019 में आरोपित मुबारिक, मुनफैज, मुनफैद, आरिफ, शाहरूख और रिजवान ने मिलकर ओएलएक्स पर बुलेट बेचने के नाम पर प्रताप मुहल्ले के रहने वाले हरीश से 59 हजार 200 रुपये ठग लिए थे।

- फरवरी में ही मुनफैज, रिजवान और रिकू ने मिलकर एक्टीवा बेचने के नाम पर रोहतक के छोटूराम नगर निवासी युवक से 40 हजार 500 रुपये ठग लिए थे।

- मई 2019 में मुनफैज, मुबारिक और रिजवान ने रोहतक निवासी महावीर से 64 हजार 200 रुपये ठगे थे।

- जनवरी 2019 में मुनफैद व आरिफ ने एक्टीवा बेचने के नाम पर खेड़ीसाध निवासी वीरेंद्र से 32 हजार 600 रुपये ठग लिए थे।

- अगस्त 2018 में आरिफ और राहुल ने मोबाइल बेचने के नाम पर रोहतक निवासी आशुतोष से 63 हजार रुपये ठगे थे।

- फरवरी 2019 में आरिफ व मुनफैद ने एक्टीवा बेचने के नाम पर रोहतक निवासी रविद्र से 17 हजार रुपये ठग लिए थे।

- फरवरी 2019 में मुनफैज व जुबेर ने देहरादून निवासी शहनवास से 25 हजार रुपये ठे थे।

- मार्च 2019 में मुनफैज व जुबेर ने ही मेाबाइल बेचने के नाम पर गुजरात के तीन लोगों से 43 हजार रुपये ठगे थे।

इसके अलावा भी आरोपितों बड़ी संख्या में ठगी की वारदातों को अंजाम दे रखा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप