मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, रोहतक : पुलिस मुठभेड़ में पकड़े गए चारों बदमाशों से पूछताछ के बाद बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस जिस गिरोह को सामान्य मान रही थी वह आने वाले दिनों में एक प्राइवेट टीचर को मौत के घाट उतारने की योजना बना रहा था। हत्याकांड को अंजाम देने के लिए ही आरोपितों ने पिछले सप्ताह कच्चा चमारिया रोड से हुंडई कंपनी की नई कार लूटी थी। हालांकि हत्याकांड को अंजाम देने से पहले पुलिस ने इन पर शिकंजा कस दिया।

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान एसपी जश्नदीप सिंह रंधावा ने बताया कि गिरोह का मुखिया सोमबीर है, जिसके इशारे पर पूरा गिरोह काम करता है। पूछताछ में सामने आया है कि आरोपित कृष्ण पर वर्ष 2017 में शहर की एक कालोनी की रहने वाली महिला ने छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। यह मामला पुरानी सब्जी मंडी थाने में दर्ज हुआ था, जिसमें आरोपित गिरफ्तार कर लिया गया था। आरोपित तभी से महिला के परिवार को खत्म करने की योजना बना रहा था। कृष्ण ने भी योजना बनाई थी कि महिला के पति को मौत के घाट उतारा जाए, जो एक प्राइवेट स्कूल में टीचर है। हत्या की पूरी योजना तैयार कर ली गई थी, लेकिन इसके लिए एक कार की जरूरत थी। इसी वजह से उन्होंने 28 मई को हुंडई कंपनी की कार लूटी थी। आरोपितों की तैयारी थी कि आने वाले कुछ ही दिनों में प्राइवेट टीचर की हत्या कर दी जाए, जिसके बाद सभी लोग कुछ दिनों के लिए भूमिगत हो जाएंगे। फिलहाल तीन आरोपितों को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। कई दिनों से थे पुलिस के निशाने पर

कार लूट के बाद से ही पुलिस आरोपितों के बारे में जानकारी जुटा रही थी। कई दिन पहले पुलिस ने पूरी कहानी सुलझा ली थी, लेकिन आरोपित हत्थे नहीं चढ़ रहे थे। पुलिस पिछले कई दिनों से आरोपितों की तलाश में इधर-उधर खाक छान रही थी। सोमवार तड़के मुखबिर की सटीक सूचना पर पुलिस आरोपितों पर शिकंजा कसने में कामयाब हो गई। एएसआइ ने बामुश्किल बचाई जान

भागते समय आरोपित सोमबीर ने एएसआइ अमित पर फायरिग की। दो बार हुई फायरिग में एएसआइ बाल-बाल बच गए। जवाबी कार्रवाई करते हुए एएसआइ ने फायर किया, जिसमें सोमबीर घायल हो गया। कुल मिलाकर मुठभेड़ के दौरान चार राउंड फायर हुए। मुठभेड़ के बाद एफएसएल इंचार्ज डा. सरोज मलिक दहिया ने भी मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। यह है आरोपितों का रिकार्ड

- आरोपित सोमबीर के खिलाफ बौंदकलां थाने में वर्ष 2014 में हत्या व अपहरण का मामला दर्ज हुआ था। वर्ष 2018 में सदर थाने में मारपीट और अर्बन एस्टेट थाने में अवैध हथियार का मामला दर्ज हुआ था। वर्ष 2014 में ही सोनीपत के कुंडली थाने में आरोपित के खिलाफ हत्या का प्रयास व सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने का मामला दर्ज है।

- आरोपित कृष्ण के खिलाफ पुरानी सब्जी मंडी थाने में महिला से छेड़खानी और सदर थाने में मारपीट का मामला दर्ज है।

- आरोपित प्रमोद अवैध हथियार रखने के मामले में महम में गिरफ्तार हो चुका है। इसके अलावा मारपीट के एक मामले में भी शामिल रहा है।

- आरोपित मोहित उर्फ सूरज के खिलाफ करीब तीन साल पहले सिविल लाइन थाने में अपहरण का मामला दर्ज है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप