जागरण संवाददाता, रोहतक : गौड़ ब्राह्माण डिग्री कॉलेज के प्रांगण में महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय कैथल के कुलपति डा. श्रेयांश द्विवेदी का स्वागत किया गया। कार्यक्रम का शुभांरभ दीप प्रज्जवलित कर किया गया। डा. श्रेयांश द्विवेदी ने कहा संस्कृत भाषा हमारी संस्कृति है। आज के बदलते युग में संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए हमें संस्कृत अनुरागी और संस्कृत निष्ठ बनना होगा। इसके साथ ही इस भाषा में ज्यादा से ज्यादा शोध करते हुए संस्कृत के उत्थान के लिए हमें इसके प्रति जागरूक होना पड़ेगा। इस अवसर पर महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के कुलसचिव जितेंद्र भारद्वाज, गौड़ कालेज प्राचार्य के प्राचार्य जेएन शर्मा, आजाद अत्री, डा. सुरेद्र वत्स, डा. जेपी शर्मा, डा. सुखदेव शर्मा, डा. विकास चाहर, कपिल कौशिक, पवन चौहान, कृष्ण वत्स, शर्मिला शर्मा, कुलदीप, राजेंद्र शास्त्री, अरुण कुमार, उमेश, राकेश शास्त्री मौजूद रहे।

Posted By: Jagran