जागरण संवाददाता, रोहतक : सेक्टर दो में उत्तरप्रदेश के सहारनपुर निवासी इंजीनियर ने बाथरुम में सुसाइड कर लिया। साथी कर्मचारी ने बाथरुम का दरवाजा तोड़कर बाहर निकाला लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। घटना की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पीजीआइ में पोस्टमार्टम करवाया।

सहारनपुर निवासी तुषार मेहता मारुति कंपनी में बतौर इंजीनियर कार्यरत था। दो साल से वह सेक्टर दो में अपने चार अन्य दोस्तों के साथ रहता था। तीन दोस्त घर गए हुए थे। घटना के समय एक ही युवक मकान पर मौजूद था। जब सुबह नौ बजे तक तुषार बाहर नहीं दिखा तो उसके दोस्त ने ढूंढा। बाथरुम की खिड़की से उसने देखा कि तुषार फर्श पर गिरा हुआ है। दरवाजें को उसने तोड़ने का प्रयास किया तो उसकी अंगुली टूट गई। उसने अपने दोस्त को फोन कर बुलाया और बाथरूम का दरवाजा तोड़कर देखा तो वह मृत मिला। उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचना देकर बुलाया। डीएसपी सज्जन सिंह और अर्बन एस्टेट थाना प्रभारी इंस्पेक्टर प्रह्लाद सिंह मौके पर पहुंचे। सोनीपत से एफएसएल एक्सपर्ट को बुलाया गया। इसके बाद मामले की सूचना सहारनपुर में तुषार के परिजनों को दी गई। स्वजनों ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मामले की जांच करने की बात कही है। नयाबास के पास सड़क किनारे मिला अज्ञात का शव

सांपला: गांव नयाबांस के पास संदिग्ध परिस्थितियों में एक अधेड़ का शव पड़ा हुआ मिला है। सूचना पाकर सब इंस्पेक्टर समुंद्र सिंह टीम के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस जांच में मृतक की आयु करीब 50 वर्ष है। मृतक ने टी शर्ट पहन रखी है। शव के पास ही कमीज रखा हुआ था। शव पर किसी प्रकार की चोट का निशान नहीं है। जांच अधिकारी समुंद्र सिंह का कहना था कि शव पर कहीं चोट के निशान नहीं हैं। आसपास के लोगों से पुलिस पूछताछ में कहना था कि मृतक कल शाम भी यहीं देखा गया था।

Edited By: Jagran