जागरण संवाददाता, रोहतक : राजकीय स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय में एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ प्राचार्या लक्ष्मी बेनीवाल दलाल ने किया। सेमिनार के मुख्य वक्ता दिल्ली डीएसवीएसआर के अध्यक्ष डा. र¨वद्र विनायक, डा. सुनीता ¨सह, डा. सरोज गुलाटी, प्राचार्या डा. मीनाक्षी गुप्ता, डा. संकेत विज रहे। कार्यक्रम में लगभग 300 प्रतिभागियों ने सेमिनार का मुख्य विषय 21वीं सदी में भारतीय अर्थव्यवस्था का बदलता परि²श्य के विभिन्न अपने-अपने शोधपत्र प्रस्तुत किए। सेमिनार का केंद्र ¨बदु विमुद्रीकरण व इसका भारतीय अर्थव्यवस्था पर प्रभाव, वस्तु एवं सेवा कर और भारतीय अर्थव्यवस्था पर हरित विपणन का प्रभाव व चुनौतियां रहा। मुख्य वक्ता ने मुख्यरूप से विमुद्रीकरण, डिजिटल अर्थव्यवस्था, वैश्वीकरण और माल एवं सेवा कर के बारे में अपने विचारों को तथ्य के साथ प्रस्तुत किया। बीआरआइसीएस देशों का उदाहरण देते हुए उन्होंने आने वाले भारत के परि²श्य के बारे में अपने विचार दिए। अंत में प्राचार्या ने कार्यक्रम का सफलतापूर्वक समापन किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस