रोहतक, [अरुण शर्मा]। अब घर में अकेले रहते वाले बुजुर्गों को तबीयत खराब होने पर टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। अब सिर्फ एक फोन कॉल पर एबुलेंस या फिर कार उन तक पहुंच जाएगी और उनको इलाज मिलेगा। यह सेवा 24 घंटे मिलेगी वह भी मुफ्त में। बुजुर्गों को एक जीपीएस (ग्लोबल पॉजीशनिंग सिस्टम) डिवाइस दी जाएगी, जोकि रिस्ट वाच जैसी होगी। इसे गले या फिर हाथ में पहना जा सकेगा।

बीमार होते ही सूचना देगी जीपीएस डिवाइस

बीमार होने की स्थिति में बुजुर्ग इस डिवाइस के बटन को दबाएंगे, जिसके बाद तत्काल मदद देने के लिए गाड़ी उन तक पहुंच जाएगी। यह सेवा 19 मई रविवार से सभी सेक्टरों के बुजुर्गों, असहायों आदि के लिए शुरू होने जा रही है।

घर में पिता की मौत के बाद शिपिंग कारोबार से जुड़े सुमित भ्याना ने की पहल

शिपिंग कारोबार से जुड़े सेक्टर-1 निवासी सुमित भ्याना यह सकारात्मक पहल करने जा रहे हैं। सुमित ने बताया कि वह अपने कारोबार के कारण अक्सर बाहर रहते हैं। घर में मां शकुंतला और पिता रामशरण दास ही रहते थे। गत 16 फरवरी की घटना बताते हुए सुमित कहते हैं कि उस रात उनके पिता बाथरूम के लिए गए। करीब 40 मिनट तक बाहर नहीं आए तो मां शकुंतला को डर लगा। उन्होंने गेट खटखटाया, लेकिन तब तक देर हो चुकी है। सुमित के पिता रामशरण की हार्टअटैक से मौत हो चुकी थी। सुमित ने बताया कि इस घटना के बाद से वह यही सोचते रहे कि घर में अकेले रहने वाले बुजुर्गों की मदद कैसे करूं। इसके बाद उक्त आपात सेवा शुरू करने का आइडिया आया।

भर्ती कराने से लेकर वापस लाने तक का जिम्मा

सुमित का कहना है कि इस सेवा के तहत दो एंबुलेंस और दो कार भी उन्होंने मुहैया कराई हैं। प्रत्येक वाहन में एक-एक ट्रेंड व्यक्ति साथ होगा। कंट्रोल रूम पर भी टीम तैनात रहेगी। कोई बुजुर्ग बीमार होगा तो उनको अस्पताल में पहुंचाना, चेकअप कराने से लेकर भर्ती कराने और बाद में घर तक लाने की सभी जिम्मेदारी पूरी की जाएगी। सुमित ने लोगों से भी आगे आने की अपील की है।

बंगलूरू से तैयार कराई गई डिवाइस

सुमित ने बताया कि बंगलूरू से विशेष डिवाइस तैयार कराई गई हैं। यह डिवाइस दो तरह से काम करेंगी। एक तो रिस्ट वॉच यानी डिवाइस को स्मार्ट फोन से संचालित किया जाएगा। जहां स्मार्ट फोन होगा, वहां-वहां जीपीएस से लोकेशन मिलती रहेगी। वहीं सादा मोबाइल उपयोग करने वालों की रिस्ट वॉच में एक सिम कार्ड लगाया जाएगा, जिसमें यह डिवाइस होगी।

यह होगा इमरजेंसी सेवा का हेल्प लाइन नंबर

हेल्प लाइन नंबर : 01262-275500 (30 लाइन्स)

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप