जागरण संवाददाता, रोहतक : बहुउद्देश्यीय स्वास्थ्य कर्मचारी एस्मा के विरोध में शनिवार को सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर के आवास पर प्रदर्शन करने के लिए पहुंचे, लेकिन पुलिस ने उन्हें पहले ही रोक लिया। कर्मचारियों ने चेताया कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होगी तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

बता दें, कि बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी एसोसिएशन के आह्वान पर सभी स्वास्थ्य कर्मचारी छह दिनों से हड़ताल पर है। शनिवार को कर्मचारी मानसरोवर पार्क में इक्ट्ठा हुए। इसमें मुख्यातिथि प्रदेश की प्रधान ओमपति कादियान रही। इस दौरान ओमपति कादियान ने कहा कि सरकार एस्मा कानून लागू कर कर्मचारियों को डराना चाहती है। कर्मचारी इससे बिल्कुल नहीं डरेंगे। सरकार की मनमानी के खिलाफ ही पिछले छह दिनों से जिले के सभी 127 उप स्वास्थ्य केंद्र पर स्वास्थ्य सेवाएं बंद पड़ी है। धरना स्थल से सभी कर्मचारी एकत्र होकर सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर के आवास पर विरोध-प्रदर्शन के लिए जाने लगे, लेकिन पुलिस ने आवास पर पहुंचने से पहले ही उन्हें बैरिके¨डग लगाकर रोक दिया। इस दौरान कर्मचारियों और पुलिस के बीच काफी नोकझोंक भी हुई। कर्मचारियों ने चेतावनी दी कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होगी तब तक आंदोलन जारी रहेगा। धरने की अध्यक्षता जिला प्रधान कुलताज मलिक और संचालन जिला सचिव मुकेश कुमार ने किया। इस मौके पर पूर्व प्रधान निर्मल बल्हारा, सर्व कर्मचारी संघ के राज्य उप प्रधान सुमेर ¨सह, जोगेंद्र करौथा, रोडवेज से ब्लॉक प्रधान सतबीर मुंडाल, शान, अनिल सिवाच, रामतिलक, सुनीता, बबली, कमलेश, सरोज, नरेंद्र, सतीश, अनिल बजाड़, विनय पाल, अमित, सुरेश, कौशिल्या, रोशनलाल, रमेश, दया कौर, सुनीता, इंद्र देव और नरेश आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran