मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, रोहतक :

जिला लोक संपर्क एवं परिवेदना समिति की मासिक बैठक में बृहस्पतिवार को 15 शिकायतें पहुंची। बैठक की अध्यक्षता कर रहे कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने जिनमें से 5 शिकायतों का मौके पर ही समाधान करते हुए बाकी शिकायतों को 15 अगस्त से पहले समाधान के आदेश संबंधित अधिकारियों को दिए। बैठक के बाद 40 से अधिक शिकायतकर्ताओं ने अपनी शिकायतें कृषि मंत्री धनखड़ के समक्ष रखी, जिन्हें तत्काल कार्यवाही के लिए संबंधित अधिकारियों को मौके पर ही सौंप दिया गया। बैठक में सुबह से ही शिकायतकर्ताओं के आने का सिलसिला शुरू हो गया था जो कि 11 बजे तक भी चलता रहा। बैठक में मंत्री ने एक-एक करके सभी 15 शिकायतें सुनी। बैठक में ये पहुंची शिकायतें

नहीं बंद हो रहा नशे का कारोबार

1. इंद्रा कालोनी के रहने वाले संदीप और विपिन जैन ने नवंबर 2018 में शिकायत दी थी। शिकायत में बताया था कि कालोनी में असामाजिक तत्वों द्वारा लूटपाट, गुंडागर्दी व नशे का कारोबार होता है। पुलिस चौकी से 100 मीटर भी यह धंधा चलता है, लेकिन पुलिस कार्रवाई नहीं करती। इस पर मंत्री ने तय समय पर समाधान के निर्देश दिए। 2. पीजीआइएमएस के सीनियर प्रोफेसर डा. बिजेंद्र सिंह ढिल्लो ने जनवरी 2018 में शिकायत दी थी। उनका कहना है कि उनके खिलाफ इस्माइला की रहने वाले महिला ने केस दर्ज कराया है। वह आधारहीन है उसे निरस्त किया जाए। इस शिकायत का समाधान जल्द करने को कहा। 3. सेक्टर-4 के रहने वाले दया किशन अहलावत ने इसी साल 15 अप्रैल को शिकायत दी थी कि धोखाधड़ी के मामले में आरोपित पक्ष ने पुलिस के सामने धमकी दी थी। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की। पुलिस ने इस मामले में संज्ञान नहीं लिया। इस पर मंत्री ने कहा कि अगर किसी पुलिस कर्मी की शिकायत है तो लिखित में दी जाए। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को इस मामले में तत्परता से कार्रवाई करने के निर्देश दिए। 4. माडल टाउन के रहने वाले बिजेंद्र ने शिकायत दे रखी है कि तिकोना पार्क के पास सड़क निर्माण में घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया गया। इसकी जांच कराई जाए। कार्रवाई के निर्देश अधिकारियों को मौके पर ही दिए गए। 5. ओमैक्स सिटी निवासी मदन सिंह ने अक्टूबर 2018 में शिकायत दी थी कि उसका बिजली का बिल 6.65 रुपये प्रति यूनिट भेजा जा रहा है, जो गलत है। शिकायत के बाद भी सुनवाई नहीं हो रही। इस पर मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को पीडित के साथ न्याय करते हुए समाधान के निर्देश दिए। 6. धनाना निवासी जसबीर ने शिकायत दे रखी है कि खेत में मछली पालन व तालाब की बाराबंदी कराने के लिए सिचाई विभाग को अर्जी दे रखी है, लेकिन अभी तक समाधान नहीं। इस पर अधिकारियों ने कहा कि इसका समाधान करा दिया गया है। 7. लाढ़ोत रोड निवासी सुनील कुमार ने पानी का लेकर शिकायत कर रखी है, जिसमें बताया गया है कि पीने का पानी कम आता है और वह भी दूषित रहता है।

8. लाखनमाजरा निवासी अशोक ने शिकायत दे रखी है कि महम रोड पर गली में काफी पानी खड़ा रहता है, जिससे लोगों को परेशानी होती है। मंत्री ने जल्द से जल्द समाधान कराने के निर्देश दिए हैं। 9. कन्हेली गांव के रहने वाले बलजीत सिंह ने भी गांव की डिग्गी में पूरा पानी नहीं आने की शिकायत दे रखी है। जिससे पानी की समस्या रहती है। इस पर मंत्री ने दस दिन में समाधान करने के निर्देश दिए हैं। हालांकि शिकायत कर्ताओं ने कहा कि दस दिन में समाधान करने पर भी गनीमत होगी। 10. लाढ़ोत रोड निवासी ओमप्रकाश, नवीन, रामकुमार और घासीराम आदि ने बंद पड़े सीवरेज को लेकर शिकायत दे रखी है। मामले में संबंधित अधिकारियों ने कहा कि संतुष्टि हो गई थी। जिस पर मंत्री ने कहा कि संतुष्टि असली है ना। उन्होंने जल्द समाधान करने के निर्देश भी दिए। 11. लाल बहादुर शास्त्री नगर निवासी जसवीर सिंह ने बताया कि वो मूल रूप से धनाना गांव का रहने वाला है। सिचाई विभाग को अपने खेत की वाराबंदी कराने के लिए सितंबर 2018 में शिकायत दी थी। लेकिन समाधान नहीं हुआ। इस पर अधिकारियों ने समाधान दो माह में करने को कहा तो मंत्री ने एक महीने में समाधान करने के निर्देश दिए। 12. इसी प्रकार समरगोपालपुर निवासी महाबीर, धर्म सिंह, सुनहरी आदि ने शिकायत रखी कि पंचायत द्वारा उन्हें दिये गए 100-100 गज के प्लाटों पर कब्जा कुछ ग्रामीणों ने किया हुआ है। इस पर अधिकारियों ने कहा कि मामला कोर्ट में विचाराधीन है और फैसला आते ही उचित कार्रवाई की जाएगी। मंत्री ने पंचायत से भी पीड़ितों के साथ न्याय करने के निर्देश दिए। साथ ही पीड़ितों को न्याय के लिए कोर्ट में सरकार को भी पक्ष बनाने को कहा। 13. लाखनमाजरा निवासी अशोक कुमार ने शिकायत दी थी कि लाखनमाजरा में महम रोड पर मरहाली जोहड़ के सामने गली में काफी समय से पानी खड़ा है। जिसकी निकासी न होने से जनता परेशान है। पंचायत अधिकारियों से शिकायत पर भी समाधान नहीं हुआ है। मंत्री ने प्रशासन से जल्द समाधान करने के निर्देश दिए। 14. आजादगढ़ी विकास कल्याण समिति रोहतक ने शिकायत दी थी कि गांव आजादगढ़ की शमशान भूमि को हुडा विभाग ने अधिग्रहण कर लिया था। उन्होंने शमशानघाट की भूमि को रिलीज कराए जाने की मांग की। इस पर अधिकारियों को मामले में तत्परता दिखाने के निर्देश दिए। 15. सुनारिया गांव निवास नरेंद्र ने शिकायत दी थी कि एक कंपनी में रात के समय ड्यूटी करते वक्त उसकी आंख में चोट लगने से दिखना बंद हो गया। कंपनी ने दो लाख रुपये देने का आश्वासन दिया लेकिन कोई राशि नहीं मिली। इस पर संबंधित अधिकारियों ने कहा की मामले में छानबीन की जा रही है। तो मंत्री ने तेजी से कार्रवाई करते हुए पीड़ित की शिकायत का समाधान करने के निर्देश दिए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप