जागरण संवाददाता, रोहतक : बहुअकबरपुर थाना क्षेत्र के सिंहपुरा गांव में अधेड़ की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। जिसे बाद में खेतों में फेंक दिया गया। पता चलने पर परिजन मौके पर पहुंचे और उसे लेकर पीजीआइ में आए, जहां पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। आरोप है कि दूसरे गांव का एक व्यक्ति उसे घर से बुलाकर लाया था, जिसके बाद उसकी हत्या कर दी गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है।

बड़ा सिंहपुरा गांव निवासी 50 वर्षीय जसवंत पुत्र बाजेराम घर पर ही रहता था। वह अक्सर छोटा सिंहपुरा गांव के मुकेश के साथ उठता-बैठता था। शुक्रवार दोपहर करीब साढ़े 11 बजे गांव के सरपंच को किसी ने फोन कर सूचना दी कि जसवंत खून से लथपथ हालत में ड्रेन नंबर आठ के पास खेतों के रास्ते पर पड़ा है, जो तड़प रहा है। सरपंच ने जसवंत के भतीजे नसीब को फोन पर इसकी जानकारी दी, तब जाकर नसीब वहां पहुंचा। जसवंत के पैरों पर तोड़ा गया था, जिस पर ईंट पत्थर और डंडों से भी वार किया गया था। नसीब घायल अवस्था में उसे लेकर पीजीआइ में पहुंचा। जहां पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर बहुअकबरपुर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल की। परिजनों का आरोप है कि सुबह करीब साढ़े दस बजे उक्त व्यक्ति उसे घर से बुलाकर ले गया था। इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई। मरते वक्त चाचा ने बताया था कि मुकेश व अन्य ने मारा : नसीब

जसवंत के भतीजे नसीब ने बताया कि जिस समय वह घटनास्थल पर पहुंचा, उसका चाचा खून से लथपथ हालत में तड़प रहा था। वह खुद ही पीजीआइ में लेकर आया। घायल अवस्था में जसवंत ने उसे बताया था कि वह मुकेश के साथ था। मुकेश और दो अन्य ने उसके साथ मारपीट की है। इसके अलावा वह कुछ ज्यादा नहीं बोल सका। जसवंत के परिवार में उसके तीन बेटे अनिकेत, योगेश, आशीष और बेटी वंदना है। पति की मौत के बाद उसकी पत्नी सुनीता का भी रो-रोकर बुरा हाल है। गांव के लोग उन्हें दिलासा देकर शांत करा रहे हैं। पहले पी शराब, फिर की मारपीट

पुलिस के अनुसार, गांव में चर्चा है कि जसवंत और मुकेश पहले शराब के ठेके के पास देखे गए थे। उनके साथ दो अन्य व्यक्ति भी थे। पहले सभी ने बैठकर शराब पी। इसी दौरान उनके बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई, जिसके बाद जसवंत को अधमरा कर आरोपित वहां से फरार हो गए। फिलहाल पुलिस सभी तथ्यों पर गहनता से जांच कर रही है। ----------------------

जसवंत के साथ मारपीट की गई थी, जिसकी पीजीआइ में मौत हो गई है। परिजनों के बयान के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है। जल्दी ही मामले का खुलासा कर दिया जाएगा।

- नरेंद्र कुमार, थाना प्रभारी बहुअकबरपुर

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप