जागरण संवाददाता, रोहतक :

स्वास्थ्य विभाग ने मच्छर जनित बीमारियों डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया के प्रति बच्चों को जागरूक किया। इसके लिए विश्वकर्मा स्कूल में कार्यक्रम हुआ। अपने आस-पास पानी न ठहरने देने और घरों में विशेष साफ-सफाई रखने की शपथ भी दिलाई। स्वास्थ्य विभाग में जिला मलेरिया अधिकारी व डिप्टी सिविल सर्जन डा. अनुपमा मित्तल ने बताया कि अभी तक घरों में जाकर एंटी लारवा एक्टिविटी की गई और लोगों को पानी न ठहरने देने के बारे में जागरूक किया गया। उन्हें साफ-सफाई रखने के भी निर्देश दिए गए थे। उन्होंने बताया कि अब स्कूल में पढ़ने वाले सभी विद्यार्थियों को भी जागरूक किया जा रहा है। डा. अनुपमा के मुताबिक, घरों में साफ-सफाई रखने और पानी न ठहरने देने से ही मच्छर जनित बीमारियों से बचा जा सकता है। इसलिए बच्चों को भी इस ओर प्रेरित किया जा रहा है। इस दौरान उन्होंने बताया कि मच्छर जनित बीमारियों से बचने के लिए जरूरी है कि सभी इसके प्रति जागरूक हों। उन्होंने सभी बच्चों और शिक्षकों को अपने-अपने घरों में एक रविवार को ड्राइ-डे के रूप में मनाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने बताया कि इस दिन अपने घर में स्थित कूलरों को साफ करना चाहिए और उन्हें सुखाना चाहिए। इकसे अतिरिक्त, छत पर पड़े कबाड़, उसमें एकत्रित हुए बारिश के पानी को भी हटा कर साफ-सफाई करनी चाहिए। इस दौरान कार्यक्रम में लायंस क्लब से सुभाष गुप्ता, समाज सेवी सुनीता जागलान व स्वास्थ्य विभाग के सुपरवाइजर राजेश कुमार, स्वास्थ्य कार्यकर्ता मुकेश कुमार, अजय, अनिल, सुमित, व शिक्षक मूर्ति देवी, कांता बंसल ने भी बच्चों को स्वच्छता के प्रति प्रेरित किया। प्रधान देवेंद्र जांगड़ा ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को विश्वकर्मा की तस्वीर दे कर सम्मानित किया।

कविता सुनाकर बताया सफाई का महत्व, दिलाई शपथ

इस अवसर पर मंच संचालन कर रहे पवन आर्य ने बच्चों को कविता के माध्यम से भी प्रेरित किया। उन्होंने कविता सुनाकर बच्चों को स्वच्छता का महत्व बताया। इस दौरान सभी शिक्षक, स्वास्थ्य अधिकारी, एमपीएचडब्ल्यू वर्कर और बच्चों ने अपने आस-पास साफ-सफाई करने और लोगों को इस के लिए प्रेरित करने की शपथ भी ली।

Posted By: Jagran