जागरण संवाददाता, रोहतक :

अब कॉलेज की छात्राएं वुमनहुड बनेंगी। किसी ने छेड़खानी की तो उनकी आंखों में मिर्ची स्प्रे झोक देंगी। अपने ऊपर होने वाले हमले का बचाव भी खुद ही कर सकेंगी। इन सबके लिए इस रक्षाबंधन पर उच्चतर शिक्षा विभाग एक और सुधार अभियान के तहत तीन दिवसीय विशेष कार्यक्रम चलाने जा रहा है। इसमें सभी सरकारी कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राओं को अधिकार और कानून की जानकारी दी जाएगी। महिला सुरक्षा व सशक्तिकरण को लेकर सेमिनार होंगे जिसमें वह स्वयं ही वक्ता भी होंगी। अभियान के आखिर में उन्हें सेल्फ डिफेंस का प्रशिक्षण मिलेगा और मिर्ची स्प्रे भी उपलब्ध कराया जाएगा ताकि वह खुद की रक्षा कर सकें। प्रदेश सरकार के चंडीगढ़ स्थित उच्चतर शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव की ओर से सभी सरकारी कॉलेजों के प्राचार्यों को इससे संबंधित पत्र जारी कर दिया गया है। पत्र के मुताबिक जिला प्रशासन व महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से एक और सुधार अभियान के तहत वुमनहुड का यह कार्यक्रम चलाया जाएगा। 23 से 25 अगस्त तक सभी सरकारी कॉलेजों में होने वाले इस कार्यक्रम के दौरान छात्राओं के लिए विभिन्न गतिविधियों की श्रृंखला का आयोजन होगा। ऐसे होगा वुमनहुड कार्यक्रम 23 अगस्त : आरंभ

कॉलेजों में 23 अगस्त को कार्यक्रम की शुरूआत होगी। पहले दिन इसका नाम आरंभ रखा गया है। इसमें महिला सुरक्षा और सशक्तिकरण विषय पर स्लोगन राइ¨टग प्रतियोगिता कराई जाएगी। बेस्ट स्लोगन को कॉलेज की वेबसाइट पर प्रदर्शित किया जाएगा। इसके साथ ही प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान पाने वाले बेस्ट स्लोगन के विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया जाएगा। इसके अतिरिक्त, ¨बदास बोल के तहत जेंडर सेंसिटाइजेशन यानी कि ¨लग संवेदीकरण पर सेमिनार होगा। कॉलेज के छात्र-छात्राओं के बीच ¨लग ¨हसा और महिला सुरक्षा को लेकर ग्रुप डिस्कशन कराया जाएगा। 24 अगस्त : सशक्त नारी - सशक्त हरियाणा

जिला प्रशासन के सहयोग से समाज में महिला सशक्तिकरण के प्रति जागरूकता लाने के लिए रैली निकाली जाएगी। इस रैली में उन स्लोगन का प्रयोग किया जाएगा जिसे कॉलेज के विद्यार्थियों द्वारा 23 अगस्त को आयोजित प्रतियोगिता में लिखा गया था। इसी दिन रक्षा बंधन के मौके पर ¨लग संवेदीकरण, महिला सुरक्षा व सशक्तिकरण विषय पर विशेष व्याख्यानशाला का आयोजन होगा। इसमें विषय विशेषज्ञ के साथ ही कॉलेज के विद्यार्थियों को भी बोलने का मौका दिया जाएगा। खासकर छात्राओं को इस विषय पर बोलने के लिए प्रेरित किया जाएगा। 25 अगस्त : संकल्प सूत्र बंधन व स्वयं सिद्धा

इस दिन कॉलेज में सभी विद्यार्थी महिला सुरक्षा को लेकर शपथ लेंगे। इसमें समाज व कॉलेज में किसी भी प्रकार की महिला ¨हसा में शामिल न होने, लड़कियों के साथ होने वाले यौन उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाने, घर, समाज व कॉलेज में लड़कियों को सुरक्षित माहौल उपलब्ध कराने और दूसरों को भी ऐसा ही करने के लिए प्रेरित करने की शपथ लेंगे। शपथ के साथ ही कॉलेज में हस्ताक्षर अभियान चलेगा। शपथ और हस्ताक्षर अभियान को कॉलेज में ही प्रदर्शित किया जाएगा। आखिर में शपथ लेने वाले विद्यार्थियों द्वारा कॉलेज परिसर में मौजूद वृक्षों को संकल्प सूत्र बांधा जाएगा। इसक कार्यक्रम की पोर्टल पर फोटो अपलोड होगी। एक महीने तक देंगे सेल्फ डिफेंस ट्रे¨नग, कॉलेज मुहैया कराएगा मिर्ची स्प्रे

इसके अतिरिक्त, इसी अभियान के तहत खेल विभाग की ओर से 25 अगस्त से ही प्रत्येक सेमेस्टर में करीब एक महीने तक नियमित रुप से छात्राओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रे¨नग दी जाएगी। इसे उच्चतर शिक्षा विभाग की ओर से स्वयं सिद्धा नाम दिया गया है। इसके बाद कॉलेज में बनी वुमन सेल की ओर से ही छात्राओं को मिर्ची स्प्रे मुहैया कराई जाएगी। वुमन सेल अपनी ग्रांट से मिर्ची स्प्रे की खरीदारी करेगा और सभी छात्राओं को यह मिर्ची स्प्रे मुहैया कराया जाएगा।

-----------

अभियान की शुरूआत 23 अगस्त से करेंगे। निर्धारित शेड्यूल के मुताबिक ही कार्यक्रम होगा। इसके लिए वुमन सेल को जिम्मेदारी सौंपी गई है। सेमिनार, वर्कशॉप समेत विभिन्न इवेंट आयोजित कराए जाएंगे।

- डा. आशा अहलावत, प्राचार्या, राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय, रोहतक।

Posted By: Jagran