जागरण संवादददाता, रोहतक : ऐ मेरे वतन के लोगों, फिर भी दिल है ¨हदुस्तानी, दिल दिया है जान भी देंगे, देश मेरा रंगीला, बीन ताशनी ढोल नगाड़े की धूम सुनो हरियाणे की जैसे गाने हर व्यक्ति की जुबान पर थे। मौका था राहगीरी में जश्न ए आजादी का। रविवार को सोनीपत रोड पर स्थित रंगशाला में राहगीरी का आयोजन किया गया। इस बार राहगीरी की थीम जश्न-ए-आजादी पर रही। हर कोई देशभक्ति के रंग में रंगा दिखा। मंच का संचालन करते हुए डा. संजय और प्रतिभा ने अपनी जुगलबंदी से लोगों को मंच से जोड़कर रखा। छोटे बच्चों ने अपने डांस, कविता, गीत के माध्यम से देश के शहीद जवानों को नमन किया। प्रतिभागियों ने हरियाणवी, पंजाबी, गुजराती गानों पर अपनी प्रस्तुति दी। सात साल की स्वास्तिका ने अपने डांस के माध्यम से देशभक्ति का संदेश दिया। किसी की रोक टोक के बिना बच्चों से लेकर हर वर्ग के लोगों ने रस्सा कस्सी, बा¨क्सग, तीरांदजी, पें¨टग और डांस कर मौज मस्ती की। राहगीरी में महिलाओं ने मेहंदी लगवाकर तीज भी मनाई। राहगीरी कार्यक्रम का समापन राष्ट्रीय गान गाकर किया।

अनूठे तरीके से दिखाए जिम्नास्टिक के करतब

तेरी आख्यां का यो काजल, तू लौंग मैं लायची जैसे गानों पर जिमनास्टिक के बच्चों ने न केवल करतब दिखाए, बल्कि किसी को अपने साथ नाचने के लिए मजबूर कर दिया। वहीं अभिषेक व गुर¨मदर के द्वारा बनाई गई रंग बिरंगी पतंगों को देखने के लिए हर किसी के कदम उनकी स्टॉल पर रूक रहे थे। राहगीरी के दौरान छात्रओं ने आजादी की थीम पर दीवारों पर पें¨टग बनाई। बच्चों ने बेस्ट मेटेरियल से पोस्टर मे¨कग प्रतियोगिता में भाग लिया।

स्वास्थ जांज कैंप में लोगों ने कराई जांच

राहगीरी में मौज मस्ती करते हुए लोगों ने फ्री स्वास्थ जांच कैंप में शुगर, बीपी आदि की जांज कराई। इस साथ ही कैंप आए डाक्टरों ने लोगों को बरसात के मौसम में अपने आस पास पानी एकत्रित न होने और कूलर टंकी की नियमित सफाई करने के लिए जागरूक किया।

Posted By: Jagran