जेएनएन, सांपला (रोहतक)।क्षेत्र के खरावड़ गांव में बेरोजगारी से तंग आकर बीटेक पास युवक ने फांसी लगा ली। परिवार के लोगों ने उसे फंदे से लटकता देखा ताे तुरंत उसे नीचे उतारा। परिजन उसे आनन-फानन में पीजीआइएमएस लेकर पहुंचे, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

खरावड़ गांव निवासी सुधीर (24) के पिता संतराज रेलवे में कर्मचारी हैं। परिजनों के अनुसार, रोजाना की भांति सुधीर रात में मकान की छत पर बने कमरे में जाकर सो गया। तड़के वह उठकर नीचे आ गया और अपनी मां शकुंतला के पास लेट गया। सुबह होने पर जब उसकी मां की नींद खुली तो पता चला कि सुधीर वापस अपने कमरे में चला गया।

दिन निकलने के बाद भी वह नीचे नहीं आया। इस पर उसकी मां उसे जगाने के लिए ऊपर कमरे में गई। कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। काफी देर तक दरवाजा खटखटाने के बाद भी गेट नहीं खुला, जिसके बाद उसकी मां ने खिड़की से झांककर देखा तो अंदर कमरे की छत पर लगे कुंडे में रस्सी डालकर सुधीर उस पर लटका हुआ था।

इस पर मां ने शोर मचाया तो परिवार के अन्‍य लाेग पहुंचे आैर कमरे का दरवाला तोड़कर सुधीर को नीचे उतारा।

परिजन उसे तुरंत रोहतक परीजीआइ लेकर पहुंच, लेकिन डॉक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसे परिवार में काेहराम मच गया। पुलिस ने शव को अपने कब्‍जे में लेकर उसका पोस्‍टमार्टम कराया। सुधीर की मां का इस घटना से बुरा हाल है।

-----

'' सुधीर के भाई ने बयान दिया है कि बेरोजगारी से परेशान होकर यह कदम उठाया है। पुलिस ने कानूनी प्रक्रिया पूरी कर शव का पोस्टमार्टम कराया और परिजनों को सौंप दिया।

                                                                                        - जयभगवान मलिक, चौकी इंचार्ज, खरावड़।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस