जागरण संवाददाता, रोहतक: हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के कम्युनिटी सेंटरों के विस्तार की योजना ठंडे बस्ते में चली गई है। करीब आठ-दस माह पहले सबसे पुराने सेक्टरों में बने कम्युनिटी सेंटरों के विस्तार की योजना बनी थी। कुछ कम्युनिटी सेंटरों के विस्तार की योजना पर अमल के लिए पैमाइश की गई थी। मगर योजना पर अभी तक अमल नहीं हो सका। कम्युनिटी सेंटरों के विस्तार की मांग ने एक बार फिर से जोर पकड़ लिया है।

बता दें कि बीते साल कम्युनिटी सेंटरों के विस्तार की मांग मुख्यमंत्री मनोहरलाल तक पहुंच गई थी। सेक्टर-14 और सेक्टर-2 की रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन ने सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर से गुहार लगाते हुए कम्युनिटी सेंटरों के विस्तार की मांग की थी। जिसमें सेक्टर-2 के विस्तार की घोषणा सहकारिता मंत्री ने की थी। फिलहाल यहां काम होने की तैयारी हो रही है, कुछ काम भी हुआ है, लेकिन सेक्टर-14 के प्रकरण में कार्रवाई नहीं हो सकी। विकास प्राधिकरण के रवैये से स्थानीय लोग खासे नाराज हैं। यहां बता दें कि सेक्टर-1, सेक्टर-2, सेक्टर-3, सेक्टर-4 व सेक्टर-14 में कम्युनिटी सेंटर बने हुए हैं। यह भी बता दें कि सेक्टर-6 में कम्युनिटी सेंटर नहीं हैं, जबकि सेक्टर-5 में कम्युनिटी सेंटर का निर्माण अंतिम चरण में है। इन सेक्टरों के कम्युनिटी सेंटर छोटे होने के कारण बड़े आयोजन कराने में परेशानी होती है। इसलिए सेक्टर वाले बाहरी निजी कम्युनिटी सेंटरों में बु¨कग कराने के लिए मजबूर हैं। यह भी मांग उठी है कि सेक्टरों में जो कम्युनिटी बने हुए हैं, उन्हें अत्याधुनिक रूप दिया जाए। निगम के सूत्रों का कहना है कि 24 घंटे में बु¨कग के दाम 5540 रुपये तय हैं। --सेक्टर-1 और सेक्टर-14 की पैमाइश के बाद बात ही नहीं बढ़ी सेक्टर-1 की जनता और रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन की मांग पर कम्युनिटी सेंटर की पैमाइश की गई थी। पैमाइश के दौरान हॉल का साइज, विस्तार कितना हो सकता है आदि ¨बदुओं की जांच हुई। इसके साथ ही हॉल के आसपास खाली पड़ी जमीन और विस्तार कहां तक हो सकेगा इसकी भी पैमाइश की गई थी। वर्जन

हमारे सेक्टर में कम्युनिटी सेंटर का विस्तार हो रहा है। वह भी तब काम शुरू हुआ जब स्थानीय लोगों ने विरोध जताया था।

राजन चुघ, सेक्टर-2, रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन --हमारे यहां बने कम्युनिटी सेंटर की पैमाइश की गई थी। कम्युनिटी सेंटर के विस्तार के लिए फाइल विभागीय अधिकारियों ने मुख्यालय भेजी थी।

--कदम ¨सह अहलावत, प्रधान, सेक्टर-6 --जब से मौजूदा सरकार का कार्यकाल आया है तब से सेक्टर-14 के हर काम अटके हुए हैं। कम्युनिटी सेंटर की सिर्फ पैमाइश हुई, अमल नहीं हुआ।

उदय ¨सह फौगाट, पूर्व प्रधान, सेक्टर-14 -- हमारे सेक्टर में तो कोई कम्युनिटी सेंटर नहीं हैं। एन्हांसमेंट लगा दी, लेकिन कम्युनिटी सेंटर को लेकर कोई योजना विभाग ने नहीं बनाई।

रमेश खासा, प्रधान, सेक्टर-6

Posted By: Jagran