जागरण संवाददाता, रोहतक :

छेड़खानी से हम परेशान हैं। घर से बाहर निकलते हैं तो गली के नुक्कड़ पर झुंड में ही लड़के खड़े रहते हैं। वह भद्दे कमेंट और अश्लील इशारे करते हैं। इसलिए हमने स्कूल जाना ही छोड़ दिया है। महिलाओं को भी नहीं छोड़ते हैं। जब इस बात की शिकायत उनके परिजनों से करते हैं तो वह लड़ने लगते हैं। पुलिस में भी कई बार शिकायत की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब तो जीना ही दूभर हो गया है।

ये आपबीती सुनाई है खोखराकोट, सलारा और पाड़ा मोहल्ला की रहने वाली छात्राओं ने। सोनीपत स्टैंड पर एमआर कांप्लेक्स के प्रथम तल पर स्थित दैनिक जागरण के कार्यालय में हेलो जागरण कार्यक्रम के तहत छात्राओं ने दुर्गा शक्ति रैपिड एक्शन फोर्स की नोडल अधिकारी और डीएसपी ममता खरब को अपनी यह समस्याएं सुनाई। कुछ तो छेड़खानी और अश्लील कमेंट से इस कदर परेशान हैं कि उन्होंने पढ़ाई तक छोड़ दी है। मनचलों के कमेंट और उनके अश्लील इशारों से परेशान होकर छात्राओं ने कई बार शिकायत भी की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। हेलो जागरण के कार्यक्रम में उन्होंने फोन पर आपबीती सुनाई तो डीएसपी ममता खरब ने उन्हें समस्या के समाधान का आश्वासन दिया। जल्द ही ऐसे स्थानों को चिह्नित कर वहां पर पुलिस बल तैनात करने को कहा। इसके अतिरिक्त, उन्होंने पीड़िताओं को संबंधित पुलिस थाने में भी आरोपितों के खिलाफ शिकायत देने के लिए प्रेरित किया। हेलो जागरण कार्यक्रम में 50 फीसद से अधिक शिकायतें इन्हीं इलाकों से होने वाली छेड़खानी की घटनाओं से संबंधित थी।

हेलो जागरण कार्यक्रम में लोगों ने पूछे ये सवाल

प्रश्न - दो बार चेन स्ने¨चग हो चुकी है। सुभाष पार्क में शराबी आकर बैठते हैं। पार्क में आने वाली महिलाओं के साथ छेड़खानी करते हैं और फब्तियां कसते हैं। कई बार शिकायत भी कर चुके हैं लेकिन कार्रवाई नहीं हो रही है।

- सुंदर जेटली, सुभाष नगर। जवाब - आपकी शिकायत नोट कर ली है। मामले का पता कराते हैं और वहां पर पीसीआर व राइडर की तैनात कराते हैं। प्रश्न - इंद्रा नगर में लड़कियों का एक सरकारी स्कूल है। लड़कियां स्कूल में जाती हैं तो कमेंट करते हैं। उन्हें देखकर भद्दे इशारे करते हैं। जब उनके परिजनों से शिकायत करते हैं तो वह लड़ने के लिए तैयार हो जाते हैं। कुछ लोगों ने तो लड़कियों को स्कूल भेजना ही बंद कर दिया है। जवाब - मामले का पता कराया जाएगा। पुलिस की तैनाती उस इलाके में की जाएगी और दोषियों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। अगर इस तरह का मामला है तो संबंधित थाने में भी शिकायत कर सकते हैं। प्रश्न - पीजीआइ के सुरक्षा कंपनी के मैनेजर ने पहले नौकरी से निकाल दिया। इसके अलावा गंदे-गंदे शब्द कहे। इसकी शिकायत पीजीआइएमएस थाना में की है। लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। कोर्ट में मेरी गवाही तो हो चुकी है। अब बड़े अधिकारी धमकी दे रहे हैं। जवाब - एफआइआर दर्ज हो चुकी है। संबंधित थाना प्रभारी से रिपोर्ट मांगी जाएगी और आरोपित को गिरफ्तार कराया जाएगा। आपकी समस्या को जल्द से जल्द दूर करके समाधान किया जाएगा। प्रश्न - भिवानी, हिसार और जींद की ओर से आने वाली ट्रेनों में लड़कियां होती हैं। वह रोहतक में पढ़ने के लिए आती हैं लेकिन रेलवे स्टेशन से लेकर कॉलेज तक उन्हें छेड़खानी और फब्तियों का सामना करना पड़ता है। एक बस की व्यवस्था प्रशासन को करानी चाहिए। जवाब- आपका सुझाव अच्छा है। हम परिवहन विभाग के महाप्रबंधक से इस संबंध में बात कर के आपकी समस्या का हल निकालेंगे। प्रश्न - सुनारिया कलां में सरकारी स्कूल है। इसमें लड़कियां पढ़ती हैं। लड़के इन लड़कियों का पीछा करते हैं। स्कूल आते-जाते समय कमेंट करते हैं। इसकी शिकायत एसपी को भी दे चुके हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। जवाब - आप अपनी शिकायत 1091 या 100 नंबर पर भी दे सकते हैं। ऐसा करने वाले आरोपितों के बारे में जानकारी दीजिए। उन्हें चिह्नित कर मामले में पूछताछ की जाएगी। आपने समस्या बता दी है। हमारा काम है, उसका समाधान करना। जल्द ही कार्रवाई की जाएगी। प्रश्न - मोहल्ले में लड़के झुंड बनाकर गली के नुक्कड़ में खड़े हो जाते हैं। इससे महिलाओं और लड़कियों का आना-जाना दूभर हो गया है। शिकायत करने पर उनके परिजन घर पर आकर ही लड़ाई करते हैं। कुछ महिलाओं ने तो घर से निकलना ही बंद कर दिया है। जवाब - जल्द ही मामले की जांच के लिए संबंधित थाना प्रभारी को निर्देश दिए जाएंगे। जांच के बाद कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। पड़ताल के लिए पुलिस की पीसीआर व राइडर तैनात कर दी जाएगी। प्रश्न - पावर हाउस के पास पंडित नेकीराम शर्मा कॉलेज के सामने लड़के खड़े होकर लड़कियों पर कमेंट करते हैं। जिस ऑटो में लड़कियां बैठती हैं, वह भी उसे में सवार हो जाते हैं। को¨चग के पास भी इस तरह वह कमेंट करते हैं। जब कि कोई नहीं रोकता है और न टोकता है। जवाब - मामले की जांच कराई जाएगी और वहां पर पुलिस की तैनाती की जाएगी। प्रश्न - खोखराकोट में रहने वाली बेटियां डेयरियों के पास स्थित सरकारी स्कूल में पढ़ने के लिए जाती हैं। लेकिन रास्ते में खड़े लड़कों ने बेटियों का जीना दूभर कर दिया है। वह लड़कों के डर से पढ़ने के लिए बाहर ही नहीं निकलती है। कई बार शिकायत की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। जवाब - आपके इलाके में पुलिस तैनात कर दी जाएगी। शिकायत नोट कर ली है। जल्द ही समस्या का समाधान करा दिया जाएगा। ------------------- अगर आप भी छेड़खानी का शिकार हैं और शिकायत नहीं कर पा रही हैं तो अपनाइए ये रास्ता

- गूगल प्ले स्टोर से दुर्गा शक्ति एप डाउनलोड कीजिए और उस पर अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर कराइए। इसके बाद आपातकाल में जब भी जरूरत हो तो सीधा कॉल करिए। कुछ ही समय में पुलिस आपकी सहायता के लिए तैनात होगी। - इसके अतिरिक्त, वूमेन हेल्पलाइन 1091, चाइल्ड हेल्प लाइन 1098, 100 नंबर पर भी फोन कर के मदद मांग सकती हैं। संबंधित क्षेत्र के पुलिस थाना में जाकर आरोपित के खिलाफ शिकायत दी जा सकती है।

Posted By: Jagran