जेएनएन, रोहतक। विभिन्न केसों में बयान दर्ज करने के बाद कोर्ट में अपनी गवाही से मुकरे पांच गवाहों को कोर्ट ने सजा सुनाई। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश आरपी गोयल की कोर्ट ने पांचों गवाहों को 500-500 रुपये जुर्माना लगाने और कोर्ट परिसर में पूरे दिन खड़े रहने की सजाई सुनाई। इसके बाद पांचों आरोपितों को कोर्ट में खड़ा रखा गया।

एक सितंबर 2017 को महम थाने में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया गया था। इसमें एक महिला और व्यक्ति ने बतौर गवाह बयान दर्ज कराए थे। बयान दर्ज कराने के बाद महिला वर्तमान में गायब चल रही है जबकि व्यक्ति अपने बयान से पलट गया था। इसके चलते कोर्ट ने उसे समन जारी करते हुए पांच सौ रुपये जुर्माना और एक दिन कोर्ट में खड़े रहने की सजाई सुनाई।

इसके अलावा 17 जून 2017 को महिला थाने में दर्ज पोक्सो एक्ट के एक प्रकरण में दो महिलाओं सहित एक व्यक्ति के बयान दर्ज किए गए थे। जब केस का फैसला होने के नजदीक आया तो आरोपितों ने बयान बदल दिए। इसके चलते कोर्ट ने उन्हें समन जारी करते हुए पेश होने के आदेश दिए थे। मंगलवार को चारों गवाहों को बयान बदलने का दोषी मानते हुए 500-500 रुपये जुर्माना और कोर्ट में एक दिन खड़े रहने की सजा सुनाई गई।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021