जागरण संवाददाता, रोहतक : पीजीआइ में फैकल्टी के संक्रमित होने का सिलसिला खत्म नहीं हो रहा है। शनिवार को भी आठ चिकित्सकों सहित 29 हेल्थ केयर वर्कर संक्रमित आए हैं। संक्रमितों में चिकित्सकों के अलावा चार स्टूडेंट, तीन स्टाफ नर्स, पांच पैरामेडिकल स्टाफ, पांच मिनिस्ट्रियल स्टाफ व चार चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी शामिल हैं। संक्रमितों में दो लोग उपचार के लिए पीजीआइ में भर्ती भी हैं। वर्तमान में पीजीआइ के कोविड अस्पताल में 61 मरीज भर्ती हैं। जिनमें से 11 आक्सीजन पर, सात हाइ फ्लो आक्सीजन पर व चार वेंटिलेटर पर हैं।

-983 सैंपल की जांच, 247 मिले संक्रमित

कोविड-19 के 1318 सैंपल जांच के लिए भेजे गए, जिनमें से 247 व्यक्ति पाजिटिव पाए गए, जबकि 335 सैंपल का परिणाम आना शेष है। जिले में कोरोना संक्रमण की दर 4.49 प्रतिशत व रिकवरी दर 93.50 प्रतिशत हो गई है। जिले में अब तक कोविड-19 के छह लाख 49 हजार 174 सैंपल लिए गए हैं, जिनमें से 29192 सैंपल पाजिटिव पाए गए तथा छह लाख 19 हजार 647 सैंपल निगेटिव पाए गए। इनमें से उपचार के बाद 27317 व्यक्ति स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। जिले में वर्तमान में कोविड-19 का 1308 सक्रिय मरीज हैं, जिनमें से दस मरीज अस्पताल में व बाकी सभी मरीज डाक्टरों की सलाह पर घर पर उपचार ले रहे हैं।

-1486 लोगों को लगाई कोरोनारोधी वैक्सीन

टीकाकरण अभियान के तहत अब तक 1470031 डोज दी जा चुकी है। शनिवार को 1486 व्यक्तियों को कोरोना रोधी टीका लगाया गया। इनमें से 498 व्यक्तियों को प्रथम डोज तथा 930 व्यक्तियों को दूसरी डोज लगाई गई। हेल्थ केयर वर्कर को अब तक 26248 डोज, फ्रंटलाइन वर्कर को 16444 डोज व 15 से 17 आयु वर्ग में 28354 डोज लगाई जा चुकी है। उन्होंने बताया कि 18 से 44 आयु वर्ग में 866476 डोज, 45 से 60 आयु वर्ग में 298910 डोज व 60 वर्ष या इससे अधिक आयु वर्ग में 233599 डोज लगाई जा चुकी है।

-55 को लगाई बूस्टर डोज

शनिवार को 55 लोगों को बूस्टर डोज भी लगाई गई है। जिसमें से 19 हेल्थ केयर वर्कर को बूस्टर डोज लगाई गई। फ्रंटलाइन वर्कर को चार कोविशिल्ड की बूस्टर डोज लगाई गई। इसी प्रकार 60 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों 32 लोगों को वैक्सीन डोज लगाई गई।

Edited By: Jagran