जागरण संवाददाता, रोहतक : ओमिक्रोन वैरिएंट हर उम्र के लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। सोमवार को आए संक्रमितों में दस साल से कम उम्र के पांच बच्चे शामिल हैं। वहीं 81 व 83 उम्र के बुजुर्ग भी संक्रमित पाए गए हैं। हालांकि अभी तक ज्यादा लोगों को अस्पताल पहुंचने की नौबत नहीं आई है। केवल पांच लाग ही अस्पताल मे गए हैं। वहीं 137 लोग सोमवार को कोरोना नेगिटिव भी आए हैं।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार सोमवार को जिले में कोविड-19 के 1605 सैंपल जांच के लिए भेजे गए, जिनमें से 261 व्यक्ति पाजिटिव पाए गए, जबकि 641 सैंपल का परिणाम आना शेष है। कोरोना की संक्रमण दर 4.32 प्रतिशत व रिकवरी दर 93.57 प्रतिशत हो गई है। जिले में अब तक 641574 व्यक्तियों को सर्वेलेंस पर रखा गया, जिनमें संक्रमितों के संपर्क में आए व्यक्ति भी शामिल है। जिले में अब तक कोविड-19 के छह लाख 41 हजार 574 सैंपल लिए गए हैं, जिनमें से 27780 सैंपल पाजिटिव पाए गए तथा छह लाख 13 हजार 153 सैंपल नेगेटिव पाये गए। इनमें से उपचार के बाद 26016 व्यक्ति स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। जिले में वर्तमान में कोविड-19 का 1198 सक्रिय मरीज है, जिनमें से पांच मरीज अस्पताल में व बाकी सभी मरीज डाक्टरों की सलाह पर घर पर उपचार ले रहे हैं।

लापरवाही न बरतें आमजन : डीसी

उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने कहा है कि कोरोना अलग-अलग रूपों में सामने आ रहा है, इसलिए लोग बेपरवाह न बनें, क्योंकि लापरवाही का सीधा सा अर्थ अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करना है। उन्होंने कहा कि कोरोना का नया वैरिएंट तेजी से फैल रहा है। इसके चलते सभी लोग मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलें व भीड़भाड़ वाली जगहों पर बेवजह जानें से बचें।

Edited By: Jagran