जागरण संवाददाता, रेवाड़ी: हत्या के एक मामले में बृहस्पतिवार को अदालत द्वारा दोषी करार देने के बाद आलू गैंग का सरगना सुनील डुलगच पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। पुलिस ने इस मामले में दोषी करार दिए सात अन्य लोगों को अपनी कस्टडी में ले लिया। आगामी 24 नवंबर को अदालत दोषियों को सजा सुनाएगी। पुलिस फरार हुए बदमाश की तलाश कर रही है।

वर्ष 2017 में हुई थी हत्या: शहर की दुर्गा कालोनी निवासी देवेंद्र और नई आबादी निवासी संजय उर्फ चवन्नी मोटरसाइकिल पर धारूहेड़ा चुंगी से पुरानी तहसील की तरफ जा रहे थे। रास्ते में वाल्मीकि बस्ती निवासी सुनील, योगेश उर्फ भोटा, तन्नू, अरुण के अतिरिक्त पवन, चेतन व सन्नी खड़े थे और दोनों पर गोली चला दी थी। दोनों गोली से बाल-बाल बच गए थे। गोली से बचने के बाद सभी ने लोहे की राड व सरियों से हमला कर दिया था और दोनों के साथ जम कर मारपीट की थी। वारदात में नई आबादी निवासी संजय उर्फ चवन्नी की मौत हो गई थी। शहर थाना पुलिस ने हत्या, हत्या के प्रयास व आ‌र्म्स एक्ट सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था।

दोषी करार देते ही हुआ फरार: बृहस्पतिवार को मामले की सुनवाई अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश सरताज बासवाना की अदालत में सुनवाई थी। अदालत में सभी आरोपित भी मौजूद थे। अदालत द्वारा इस मामले में सभी आठों आरोपितों को दोषी करार दे दिया। दोषी करार देते ही वाल्मीकि बस्ती निवासी आलू गैंग का सरगना सुनील पुलिस को चकमा देकर वहां से फरार हो गया, जबकि पुलिस ने अन्य सात दोषियों को अपनी कस्टडी में ले लिया। अदालत ने मामले की सुनवाई के लिए अगली तारीख 24 नवंबर तय की है। 24 नवंबर को अदालत मामले में अपना निर्णय सुनाएगी। पुलिस अदालत से फरार हुए सुनील की तलाश कर रही है।

Edited By: Jagran