रेवाड़ी, जागरण संवाददाता। मदरसों में बच्चों को पढ़ाने वाले एक व्यक्ति को दो लोगों ने सोने की ईंट बेचने का झांसा दिया और पांच लाख 20 हजार रुपये ठग लिए। सुनार से सोने की ईंट की जांच कराने पर नकली निकली। पीड़ित ने पुलिस को शिकायत देकर धोखाधड़ी की प्राथमिकी दर्ज कराई है। सेक्टर-छह थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

अजमेर में हुई थी मुलाकात

पुलिस को दी शिकायत में पश्चिम बंगाल के जिला दीनाजपुर के गांव बीरबलभीटा के रहने वाले मोहम्मद जाफर हुसैन ने कहा है कि वह अजमेर में मदरसों में बच्चों को पढ़ाते है। दिसंबर-2022 में वह अजमेर रेलवे स्टेशन के निकट स्थित मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए गए थे। वहीं पर उनकी नियाज नाम के व्यक्ति से हुई थी। नियाज ने बताया था कि वह भिवाड़ी के पास एक गांव में रहते है। इसके बाद दो-तीन बार नियाज व उसके एक साथी के साथ मोबाइल पर बातचीत भी हुई थी।

ईंट मिलने का दिया झांसा

नियाज व उसके साथी ने मोबाइल पर बताया कि खोदाई के दौरान उन्हें खजाना मिला है, जिसमें एक सोने की ईंट भी शामिल है। वह बाजार से सस्ते दाम पर उन्हें सोने की ईंट दे सकते है। कम दाम के कारण मोहम्मद जाफर उनके झांसे आ गए। दोनों ने मिलने के लिए उन्हें धारूहेड़ा बुला लिया। धारूहेड़ा आने के बाद दोनों उन्हें एक सोने का टुकड़ा दिया। उन्होंने टुकड़े की जांच कराई तो वह असली निकला। इसके बाद 18 जनवरी को वह अपने भाई इजहार के साथ नियाज से मिलने के लिए धारूहेड़ा आ गए। यहां से नियाज दोनों को अपने घर ले गया। वहां भी नियाज ने एक और सोने का टुकड़ा दिया। टुकड़ा लेकर दोनों अजमेर चले गए। अजमेर में सुनार से जांच कराने पर वह भी असली निकला।

जांच में नकली निकली ईंट

24 जनवरी को मोहम्मद जाफर हुसैन अपने भाई इजहार के बाद फिर से धारूहेड़ा आ गए। बस स्टैंड के निकट नियाज व उसके साथी ने पांच लाख रुपये लेकर सोने की ईंट उन्हें दे दी। नियाज ने कमीशन के तौर पर बीस हजार रुपये उनसे अलग से ले लिए। ईंट लेकर वह रेवाड़ी पहुंचे और एक सुनार से जांच कराई। जांच में नियाज व उसके साथी द्वारा दी गई सोने की ईंट नकली निकली। इसके बाद दोनों को ठगे जाने का पता लगा। उन्होंने मामले की शिकायत पुलिस को दी। सेक्टर-छह थाना पुलिस ने नियाज व उसके साथी के विरुद्ध ठगी का मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

Edited By: Jagran News Network

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट