जागरण संवाददाता, रेवाड़ी : जिले के गांव मनेठी में बुधवार तड़के एक युवक ने अपनी पत्नी की तेजधार हथियार से गले पर वारकर हत्या कर दी और चार वर्षीय बेटे को लेकर फरार हो गया। आरोपित अपने बेटे को एक रिश्तेदार के घर छोड़ गया। पुलिस आरोपित की तलाश कर रही है, परंतु देर शाम तक उसके बारे में कोई सुराग नहीं लग पाया था। हत्या का कारण परिवारिक कलह माना जा रहा है। आरोपित पति बिजली की मोटर मरम्मत का कार्य करता है।

पुलिस के अनुसार गांव मनेठी निवासी चांद सिंह ने 27 वर्षीय जागृति नाम की महिला से प्रेम विवाह किया था। विवाह के बाद दोनों को एक बेटा हुआ था। बेटे की उम्र अब करीब चार साल है। करीब दो वर्ष पूर्व चांदराम की मौत हो गई थी। चांदराम की मौत के बाद जागृति ने अपने देवर प्रदीप कुमार से विवाह कर लिया था। बताया जा रहा है कि मंगलवार रात को प्रदीप व जागृति के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। बुधवार सुबह भी दोनों के बीच फिर झगड़ा हुआ। संदेह है कि गुस्से में प्रदीप ने गंडासे से जागृति की गर्दन की गर्दन पर वार कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना को अंजाम देने के बाद प्रदीप चार वर्षीय बेटे को लेकर वहां से फरार हो गया। आरोपित बेटे को गांव महतावास में अपने एक परिचित के पास छोड़ गया। सास कमरे में पहुंची तो लगा पता

वारदात के समय घर पर कोई नहीं था। प्रदीप की मां पशुओं को चारा डालने के लिए गई हुई थी। वापस लौटी तो प्रदीप व पोता वहां नहीं थे। वह कमरे में पहुंची तो जागृति चारपाई पर लहूलुहान हालत में पड़ी हुई थी। शोर सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे तथा खोल थाना पुलिस को सूचना दी। सूचना पर डीएसपी मोहम्मद जमाल, खोल थाना एसएचओ संजय कुमार व कुंड चौकी इंचार्ज एएसआइ विरेंद्र सिंह मौके पर पहुंचे तथा जांच शुरू की। पुलिस ने फोरेंसिक एक्सपर्ट से भी घटनास्थल व शव का निरीक्षण कराया। खून से सना गंडासा चारपाई पर ही पड़ा मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल में भेज दिया। पुलिस आरोपित की तलाश कर रही है।

--------

मृतका की सास की शिकायत पर प्रदीप के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। आरोपित की तलाश की जा रही है। उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

-एएसआइ विरेंद्र सिंह, कुंड चौकी इंचार्ज।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप