जागरण संवाददाता, रेवाड़ी : स्कूलों में प्रार्थना के समय बच्चों को मच्छरजनित रोगों के बारे में बताया जाएगा और उन्हें पूरी बाजू के कपड़े पहनने के लिए प्रेरित किया जाएगा। जिला स्तरीय मलेरिया कोर कमेटी की त्रिमासिक बैठक में यह निर्देश दिए गए। बैठक अतिरिक्त उपायुक्त प्रदीप दहिया की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में जिलास्तर पर किए जा रहे मलेरिया रोधी प्रोग्राम के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।

अतिरिक्त उपायुक्त ने बताया गया कि बारिश के मौसम को देखते हुये मच्छरों के पनपने की संभावना ज्यादा होती है, इसलिए समय रहते आवश्यक कदम उठाने चाहिए। शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता शिविर लगाए जाएं ताकि इन बीमारियों से बचाव किया जा सके। उन्होंने कहा कि नजदीकी जिले की सीमा के जिलों में मलेरिया के मामलों की संख्या अधिक है। जिला में वर्ष 2019-20 में एक मामला पॉजीटिव मिला है। इसलिए आम जन को जागरूक करने के लिए मुनादी कराई जानी चाहिए। उन्होंने खड़े पानी में काला तेल व गंबूनिया मछली को डलवाने को भी कहा ताकि मच्छरों का लार्वा नहीं पनप सके। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को सभी प्राइवेट अस्पतालों से मलेरिया संबंधी समुचित रिकार्ड उपलब्ध कराने को भी कहा। इस अवसर पर एसडीएम रेवाड़ी रविन्द्र यादव, एसडीएम बावल रविन्द्र कुमार, सिविल सर्जन डॉ. कृष्ण कुमार, डॉ. भंवर, डॉ. विजय, डीडीपीओ डॉ. एसी कौशिक, कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास संगीता यादव आदि ने हिस्सा लिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप