संवाद सहयोगी, बावल : जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा वार्ड नंबर-13 में सीवर लाइन बिछाते समय देर शाम अचानक मिट्टी खिसक गई। जिससे एक श्रमिक करीब बीस फीट नीचे दब गया, जबकि तीन बाल-बाल बच गए। श्रमिक को मिट्टी से बाहर निकाला गया, परंतु तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा बावल कस्बा में सीवर लाइन बिछने का कार्य किया जा रहा है। वार्ड नंबर-13 में करीब 20 फीट गहरा गड्ढा खोदा गया था, जिसमें चार श्रमिक मेरठ के गांव पिटलौर निवासी दिलशाद, मसूद, फारुख व गुलफान नीचे काम कर रहे थे। इसी दौरान अचानक मिट्टी खिसक गई और दिलशाद नीचे दब गया। करीब आधा घंटा की मशक्कत के बाद दिलशाद को बाहर निकाला गया। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मृतक के साले मसूद ने बताया कि अंधेरा होने के बाद कार्य को बंद करने के लिए कहा गया था, परंतु ठेकेदार व अधिकारियों ने काम चालू रखने के लिए कहा। सुरक्षा के लिए भी कोई भी व्यवस्था नहीं की गई थी, जिस कारण यह हादसा हो गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए बावल के सीएचसी में भेज दिया।

Posted By: Jagran