जागरण संवाददाता, रेवाड़ी: स्थानीय न्यायिक परिसर में बृहस्पतिवार को एक महिला व पुरुष अधिवक्ता के बीच विवाद हो गया। दोनों के बीच जम कर मारपीट हुई तथा न्यायिक परिसर में हंगामा मच गया। बीच-बचाव करने आए अन्य अधिवक्ताओं ने काफी मशक्कत के बाद दोनों को एक-दूसरे से अलग कराया। दोनों पक्षों की ओर से पुलिस को शिकायत दी गई, परंतु बाद में अधिवक्ताओं ने दोनों पक्षों के बीच राजीनामा करा मामले का पटाक्षेप करा दिया।

जिला न्यायिक परिसर में पार्किंग के बाहर बैठे एक महिला व पुरुष अधिवक्ता के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों ने एक दूसरे से हाथापाई व मारपीट शुरू कर दी है। मौके पर मौजूद अन्य अधिवक्ताओं ने कड़ी मशक्कत के बाद दोनों को अलग किया। महिला व पुरुष अधिवक्ता के बीच मारपीट देख कर बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हो गए। इसके बाद जिला बार रूम में अधिवक्ताओं की बैठक हुई, जिसमें दोनों अधिवक्ता भी मौजूद रहे।

जिला बार में बातचीत के जरिए विवाद को सुलझा लिया गया तथा मामले का पटाक्षेप हो गया। जिला बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने संयुक्त रूप से निर्णय लिया कि न्यायिक परिसर के बाहर पार्किंग स्थान पर कोई अधिवक्ता अपनी सीट नहीं लगाएगा। उनके लिए पहले से ही टीनशेड में जगह निर्धारित की गई है। बार एसोसिएशन के प्रधान सुधीर यादव ने कहा कि कोई भी अधिवक्ता पार्किंग स्थल में नहीं बैठेंगे। बॉक्स--

क्लाइंट को लेकर खड़ा होता है विवाद:

अधिवक्ताओं के बीच इससे पूर्व भी इस तरह के विवाद हो चुके हैं। इन विवादों का कारण एक दूसरे के क्लाइंट तोड़ना हैं। न्यायिक परिसर के गेट पर बैठने वाले अधिवक्ता एक दूसरे के क्लाइंट को अपने पास हाथों के इशारे से बुला लेते हैं। दूसरे वकील से कम रेट में काम भी कर देते हैं। इन मुद्दों पर कई बार हाथापाई तक की नौबत आई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप