पानीपत, जेएनएन। किला थाना क्षेत्र की एक कालोनी में किराये पर रहने वाले उत्तरप्रदेश के युवक ने पड़ोस की 14 वर्षीय किशोरी का अपहरण कर लिया और गांव में घर पर ले जाकर दुष्कर्म किया। किला थाना पुलिस ने दो माह बाद पीडि़त किशोरी को बरामद कर मेडिकल कराया और मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कराए। 

जांच में पीडि़त किशोरी डेढ़ माह की गर्भवती मिली है। किशोरी को शेल्टर होम में छोड़ दिया गया। पुलिस ने आरोपित नन्हा को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं किशोरी के पिता ने आरोप लगाए कि पुलिस ने उसकी सुनवाई नहीं की और आरोपित से रिश्वत ली है। 

पड़ोस में रहता था युवक

पीडि़त किशोरी के पिता ने बताया कि वह किराये के मकान में रहता है। गत 26 सितंबर को वह और उसकी पत्नी फैक्ट्री में गए थे। घर लौटे तो बेटी नहीं मिली। पड़ोस में रहने वाले उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद के गांव निवासी 26 वर्षीय नन्हा के कमरे पर भी ताला लगा था। अपने स्तर पर पड़ताल की तो पता चला कि नन्हा उसकी बेटी को अगवा कर अपने गांव ले गया है। 

पुलिस पर आरोप

वह शिकायत देने थाने गया तो पुलिसकर्मी ने कहा कि पांच दिन में उसकी बेटी को ढूंढ़ सकता हूं, लेकिन ऐसा नहीं करूंगा। आरोपित नन्हा उसका रिश्तेदार है। इसके बाद नन्हा के जीजा परमानंद व भूरा, रिश्तेदार सुनील, पड़ोसी राजकुमार और बेबी ने उसके व पत्नी के साथ मारपीट की और समझौते के लिए दबाव डाला। उसने 100 नंबर पर कॉल की, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। उसने थाने व पुलिस के आला अधिकारियों से कई बार गुहार लगाई। उसकी बात नहीं सुनी। 

फिर से होगी काउंसिलिंग

पीडि़त बेटी पर पुलिस ने दबाव डालकर मजिस्ट्रेट के सामने बयान दिलाए कि वह अपनी सहेली के साथ गई थी। इस बारे में किला थाने के कार्यकारी प्रभारी अतर ङ्क्षसह ने बताया कि किशोरी को आरोपित नन्हा के घर से बरामद किया है। मामले में कोताही नहीं बरती है। बाल कल्याण समिति से किशोरी की काउंसिलिंग कराई गई। किशोरी बार-बार बयान बदल रही है। किशोरी की शनिवार को फिर से काउंसिलिंग कराई जाएगी।

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस