पानीपत, जेएनएन। पहले पैदल चलने में दिक्कत थी, वहीं अब दौड़ तक लगाने लगे हैं। बैठने में दिक्कत होती थी, अब काफी देर तक चौकड़ी मारकर बैठने में कोई परेशानी नहीं होती। ये हुआ रोजाना योग करने से। कोई कई साल से योग कर रहा है तो किसी ने कुछ महीने पहले ही कैंप में आना शुरू किया। पतंजलि की ओर से लगाए जा रहे योग शिविर में पुरुषों के साथ महिलाओं की भी संख्या बढ़ने लगी है।

परुथी चौक के नजदीक मॉडल टाउन के पार्क में रोजाना योग शिविर लगता है। यहां पर शीशपाल योग करना सिखाते हैं। खुद पंद्रह वर्ष से योग कर रहे हैं। बाबा रामदेव से योग सीखकर आए थे। अब करनाल, कैथल और कुरुक्षेत्र जिलों के भी इंचार्ज हो गए हैं। पार्क में जो भी उन्हें कोई नया व्यक्ति दिखता है, उसे योग करने के लिए जरूर कहते हैं। वहीं, पतंजलि योग समिति के मीडिया प्रभारी आरडी गुप्ता शहरभर के पार्कों में यह देखने पहुंच जाते हैं कि संख्या बढ़ रही है या नहीं। आमतौर पर सेक्टर 13-17 के पार्क में खुद मौजूद रहते हैं।

घुटने अब ठीक हो गए

मॉडल टाउन निवासी सतबीर शर्मा ने बताया कि पहले घुटने जाम रहते थे। जब से योग शिविर में आने लगे हैं, तब से घुटने ठीक हो गए। पहले तो डर लगा रहता था कि कहीं घुटने बदलने न पड़ जाएं। अब तो वह दौड़ने भी लगे हैं। वर्ष 2005 में घुटनों में दिक्कत आई थी। कुछ महीने योग किया तो सब ठीक हो गया। वह सभी से योग करने के लिए जरूर कहते हैं।

अब तनाव नहीं रहता

 

संतोष का कहना है कि महिलाओं को योग जरूर करना चाहिए। दरअसल, महिलाएं पूरा घर तो संभालती हैं लेकिन अपना ध्यान नहीं रखती। दिन में कम से कम एक घंटे की योग क्लास में जरूर जाएं। योग करने की वजह से अब उन्हें तनाव नहीं रहता। पहले सिर काफी भारी रहता था। अनुलोम-विलोम जैसी क्रियाएं करने से काफी समस्याएं दूर हो गईं।

शुगर पर नियंत्रण पाया

 

मॉडल टाउन निवासी सतप्रकाश गुप्ता ने बताया कि शुगर की समस्या हो गई थी। इस वजह से तनाव बढ़ गया। सैर करने आने लगा तो पार्क में लोगों को योग करते हुए देखा। शिक्षक शीशपाल से मुलाकात हुई। उन्होंने कुछ योगासन कराएं। अब लगातार योग शिविर में आता हूं। शुगर नियंत्रित हो गई है। वजन भी ठीक हो गया है। कपालभाति, भ्रस्तिका से काफी आराम मिला है।

वजन कम हो गया

अनंत राम ने बताया कि उनका वजन बढ़ने लगा था। दिनभर आलस बना रहता था। कुछ महीने पहले ही योग शिविर में आने लगा। पहले तो वजन कम हो गया। इसके साथ ही चुस्ती भी बढ़ गई है। दिनभर अब थकान नहीं रहती। युवाओं को ही नहीं, बुजुर्गों को भी योगासन करने चाहिए। कुछ दिनों में ही असर दिखने लग जाता है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021